पीएनबी घोटाला ः गीतांजलि और पीएनबी में 3 दिन में निवेशकों के डूबे 9500 करोड़


नई दिल्ली : पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में हुए 11,400 करोड़ रुपए के फ्रॉड में गीतांजलि जेम्स का भी नाम सामने आया है। पीएनबी में हुए फ्रॉड की भारी कीमत निवेशकों को चुकानी पड़ी है। फ्रॉड की वजह से तीन दिनों में पीएनबी और गीतांजलि जेम्स के निवेशकों क 9500 करोड़ रुपए डूब गए हैं।

पीएनबी में फ्रॉड के चलते पिछले तीन ट्रेडिंग सेशन से स्टॉक में गिरावट देखने को मिल रही है। तीन दिनों में स्टॉक 23.60 फीसदी टूट गया है। लगातार तीसरे दिन स्टॉक में गिरावट से अकेले पीएनबी में निवेशकों के करीब 9246.19 करोड़ रुपए डूब गए हैं। 12 फरवरी को पीएनबी का मार्केट कैप 39178.17 करोड़ रुपए था।

ऐसे घटा पीएनबी का मार्केट कैप

14 फरवरी- 35336.70 करोड़ रुपए
15 फरवरी- 31107.44 करोड़ रुपए
16 फरवरी- 29931.98 करोड़ रुपए

गीतांजलि जेम्स में 300 करोड़ का नुकसान

गीतांजलि जेम्स लिमटेड का स्टॉक तीन दिनों में 40 फीसदी से ज्यादा टूटा है। स्टॉक्स में गिरावट से तीन दिनों में निवेशकों के 300 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। 12 फरवरी को कंपनी का मार्केट कैप 745.49 करोड़ रुपए था।

ऐसे घटा पीएनबी का मार्केट कैप

14 फरवरी- 695.08 करोड़ रुपए
15 फरवरी- 556.30 करोड़ रुपए
16 फरवरी- 445.40 करोड़ रुपए

कैसे हो रहा था खेल

यह खेल लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LOUs) की आड़ में चल रहा था। इसके तहत एक बैंक की गारंटी पर दूसरे बैंक पेमेंट कर रहे थे। इस घोटाले में पंजाब नैशनल बैंक (PNB) के अलावा यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक और एक्सिस बैंक के नाम भी सामने आ रहा है। हालांकि इन बैंकों का कहना है कि वह पीएनबी के लेटर ऑफ अंडरटेकिंग के आधार पर यह पेमेंट कर रहे थे।

कैसे सामने आया ये मामला?

  • पंजाब नेशनल बैंक ने बुधवार को स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई को बताया कि यह फ्रॉड कुछ चुनिंदा अकाउंट होल्‍डर्स को फायदा पहुंचाने के लिए किए गए थे। इन अकाउंट्स के जरिए 11,330 करोड़ रुपए ( 1.8 अरब डॉलर) का ट्रांजैक्शन हुआ।
  •  बैंक के अनुसार, ऐसा लगता है कि इन ट्रांजैक्‍शन के आधार पर विदेश में कुछ बैंकों ने उन्हें (चुनिंदा अकाउंट होल्‍डर्स को) कर्ज दिया है।

 

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करे।