उपमुख्यमंत्री ने मिशन भागीरथी योजना का जायजा लिया


उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि तीन साल पूर्व गठित तेलांगना की एक दर्जन से ज्यादा लोकप्रिय योजनाओं का वहां के मुख्य सचिव के साथ अध्ययन-अवलोकन करने के बाद बताया कि हर राज्य एक-दूसरे से काफी कुछ सीख सकते हैं। इस दौरान बिहार की ‘हर घर नल का जल’ की चर्चा की जिसके तर्ज पर तेलांगना में घर-घर नल का जल पहुंचाने के लिए ‘मिशन भागीरथ’ शुरू किया गया है। तेलांगना सरकार की ओर से शुरू की गई प्रसूता महिलाओं के लिए 13 हजार रुपये के अनुदान और नवजात शिशुओं के लिए दो हजार रुपये की किट योजना, वहां की मेट्रो रेल परियोजना तथा हैदराबाद के स्मार्ट थाने और पुलिस की अत्याधुनिक कार्यप्रणाली की भी जानकारी ली।

मोदी ने बताया कि पटना के लिए प्रस्तावित मैट्रो रेल की परियोजना को कैसे कार्यान्वित की जाए इसके लिए हैदराबाद में उद्घाटन के लिए पीपीपी मोड में बन कर तैयार 20 हजार करोड़ की लागत से 76 किमी लम्बी मैट्रो प्रोजेक्ट को जाकर देखा और वहां के अधिकारियों के साथ मैट्रो में सवारी की। हैदराबाद मैट्रो का नवम्बर में प्रधानमंत्री उद्घाटन करने वाले हैं।

एक गांव में जाकर बिहार की ‘हर घर नल का जल’ योजना की तर्ज पर कार्यान्वित की जा रही 46 हजार करोड़ रुपये की ‘मिशन भगीरथ’ का जायजा लिया। मिशन भगीरथ के तहत तेलांगना के हर गांव के घरों में नल से जल पहुंचाने की योजना कार्यान्वित की जा रही है। तेलांगना की सरकार प्रसूता महिलाओं के लिए 13 हजार रुपये अनुदान तथा उनके नवजात शिशुओं को 2 हजार रुपये का किट दे रही हैं जिसमें उनकी जरुरतों की सामग्री मसलन दो सेट कपड़े, बिछावन और मच्छरदानी आदि रहते हैं।