लालू का राजनीतिक उद्देश्य परिवार तक सीमित


पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और एनडीए सरकार पर लगातार बयानबाजी करने को लेकर राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पर हमला करते हुए भाजपा प्रदेश प्रवक्त सह पूर्व विधायक राजीव रंजन ने कहा कि एनडीए सरकार और नीतीश जी को लेकर लालू जी और उनकी पार्टी अनर्गल बयान बाजी कर रहे हैं। लालू जी की राजनीति का उद्देश्य सिर्फ परिवार तक ही सीमित रहा है, उससे आगे लालू जी सोंच ही नहीं पाते। अगर इन्होंने परिवार वाद से ऊपर उठ कर केवल बिहार की जनता के हित में काम किए होता तो बिहार में लालू जी छवि अच्छी हो गयी होती।

उन्होंने कहा कि यह हकीकत है कि आम जनता में धारणा है की लालू जी केवल परिवार के लिए काम करते हैं और इनकी राजनीति में बिहार का विकास और बिहार की जनता दूर-दूर तक शामिल नहीं रही है। यही कारण है कि बिहार की जनता ने इनको सत्ता से दूर कर दिया था। अगर नीतीश जी के साथ सत्ता में अभी के इनके 20 महीने के कार्यकाल को भी देखे तो नीतीश जी की छवि जस की तस रही लेकिन लालू जी छवि और बिगड़ गयी। एनडीए के जनाधार पर प्रश्नचिन्ह उठाने वाले लालू जी को पहले 2010 और 2014 याद कर लेना चाहिए।

अगर इनकी राजनीति का रवैया यही रहा तो आने वाले समय में जनता इन्हें एक भी सीट नहीं देगी। श्री रंजन ने आगे कहा कि लालू जी यह जान जाए कि काठ की हांडी बार बार चूल्हे पर नहीं चढ़ती। बिहार की जनता यह देख रही है, जिस नीतीश जी ने इनके राजनीतिक बनवास को खत्म किया, उन्हें आज लालू जी और उनके नेता कैसे अपमानित कर रहे हैं।

सत्ता जाने की खिसियाहट में लालू जी खुद में झांकने और अपनी गलतियों पर आत्मचिंतन करने की बजाए एनडीए को दिन रात कोस रहे हैं। लालू जी और इनकी पार्टी की राजनीति अब केवल नीतीश जी और एनडीए को कोसने तक ही सीमित रह गयी है। लालू जी शायद भूल रहे हैं कि उनकी नकारात्मक राजनीति जनता पर अब कोई प्रभाव नहीं पडऩे वाला।