तेजस्वी को बर्खास्त करें नीतीश


पटना : बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधान मंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के पुत्र एवं उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव पर केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के प्राथमिकी दर्ज किये जाने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उन्हें अविलंब बर्खास्त करने की मांग की है। श्री मोदी ने यहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राजद अध्यक्ष से जुड़े कई ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी की जानकारी उन्हें पहले मीडिया से मिली और इसके बाद ब्यूरो की प्रेस वार्ता से।

नौ वर्ष पूर्व 12 अगस्त 2008 को जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष राजीव रंजन ङ्क्षसह उर्फ ललन ङ्क्षसह एवं पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिवानंद तिवारी ने पहली बार इस मामले को उजागर किया था। उन्होंने कहा कि इसके बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन ङ्क्षसह को जदयू के नेताओं ने ज्ञापन के साथ छह सौ पृष्ठों का एक दस्तावेज भी सौंपा था। भाजपा नेता ने कहा कि 25 फरवरी 2005 को तत्कालीन रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव ने हर्ष कोचर को रेलवे के रांची और पुरी स्थित दो होटलों के बदले पटना के सगुना मोड़ के निकट 200 करोड़ रुपये की दो एकड़ से ज्यादा बेनामी जमीन गैर कानूनी तरीके से राजद के राज्यसभा सांसद प्रेमचंद गुप्ता की कंपनी डिलाइट मार्केङ्क्षटग प्राइवेट लिमिटेड के नाम रजिस्ट्री करवा ली। उन्होंने कहा कि इस कम्पनी में वर्ष 2014 में तेज प्रताप और तेजस्वी के साथ ही राबड़ी देवी को निदेशक बनाया गया।

श्री मोदी ने कहा कि 12 नवंबर 2016 को डिलाइट कंपनी का नाम बदलकर लालू-राबड़ी के नाम पर लारा प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड कर दिया गया। नाम बदलने के साथ ही कम्पनी के उद्देश्य में भी बदलाव किया गया। उन्होंने कहा कि इस तरह से लारा प्रोजेक्ट्स के माध्यम से डिलाइट कंपनी सहित उसकों हस्तांतरित की गई 200 करोड़ रुपये की जमीन पर लालू परिवार का कब्जा हो गया। उन्होंने कहा कि करोड़ों रुपये की जमीन मात्र चार लाख रुपये में ही लिखवा ली गई। भाजपा नेता ने कहा कि डिलाइट कम्पनी पहले आयात-निर्यात का काम करती थी लेकिन पटना में जब यह कंपनी कोई कारोबार नहीं कर रही थी और उसके पास कोई कर्मचारी नही था तो फिर उसे इतनी कीमती जमीन रखने का क्या औचित्य था। वर्ष 2016 में इस कम्पनी का उद्देश्य बदल दिया गया और इसमें निर्माण कार्यों को शामिल किया गया। उन्होंने कहा कि इसी जमीन पर अवैध तरीके से बिहार का सबसे बड़ा मॉल बनाया जा रहा है।

बिहार सरकार ने पटना उच्च न्यायालय में स्वीकार किया है कि इस जमीन पर अवैध निर्माण कराया जा रहा था जिस पर रोक लगा दी गयी है। श्री मोदी ने कहा कि उन्हें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उम्मीद है कि उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव पर ब्यूरो की ओर से प्राथमिकी दर्ज किये जाने के बाद वह चुप नहीं रहेंगे और कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि 27 वर्ष की उम्र में करोड़ों रुपये का मालिक बनने वाले उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव या तो तत्काल इस्तीफा दें नहीं तो मुख्यमंत्री श्री कुमार उन्हें बर्खास्त करें। इसी तरह राजद अध्यक्ष के बड़े मंत्री पुत्र तेज प्रताप यादव की सम्पत्ति को भी आयकर विभाग ने जब्त किया है इसलिये उन पर भी मुख्यमंत्री श्री कुमार को कार्रवाई करनी चाहिए। भाजपा नेता कहा कि राजद अध्यक्ष ने रांची में पत्रकारों से बातचीत के दौरान जो सफाई दी है उसमें यह स्पष्ट नहीं बताया कि हर्ष कोचर ने अपनी जमीन को क्यों डिलाइट मार्केटिंग के नाम रजिस्ट्री की। इस पर श्री यादव ने चुप्पी साध रखी है। उन्होंने कहा कि चारा घोटाले के समय भी जब सीबीआई कार्रवाई कर रही थी उस समय भी श्री यादव उस पर तरह-तरह के आरोप लगा रहे थे। राजद अध्यक्ष इसे बदले की भावना बताकर बच नहीं सकते।