कोविंद के समर्थन मुद्दे पर नीतीश ने लालू-सोनिया को अवगत कराया


पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद के चुनाव में समर्थन देने का संकेत देते हुए कहा कि वह उनके उम्मीदवार घोषित किए जाने से व्यक्तिगत तौर पर प्रसन्न है और उन्होंने उन्हें समर्थन देने के मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राष्ट्रीय जनता दल(राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव को अपनी राय से भी अवगत करा दिया है।

                                                                                              Source

नीतीश ने राज्यपाल रामनाथ कोविंद से राजभवन में मुलाकात करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि कोविंद ने बिहार के राज्यपाल के रूप में बेहतरीन काम किया है और राज्य सरकार के साथ एक राज्यपाल का जो आदर्श संबंध होता है उसे उन्होंने निभाया है। वह हमेशा याद रखा जायेगा। उन्होंने कहा कि यह व्यक्तिगत तौर पर उनके लिए प्रसन्नता की बात है कि बिहार के राज्यपाल राष्ट्रपति के उम्मीदवार घोषित हुए हैं। मुख्यमंत्री ने समर्थन के संबंध में पूछे जाने पर कहा कि अभी इसपर सवाल पूछा जाना मुनासिब नहीं है। इसपर आगे बातचीत होगी।

                                                                                                Source

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उनकी इस मुद्दे पर लालू प्रसाद यादव और सोनिया गांधी से बातचीत हुई है तथा उन्होंने उन्हें अपनी राय से अवगत करा दिया है। उन्होंने फिर से दोहराया कि यह प्रसन्नता की बात है कि बिहार के राज्यपाल को राष्ट्रपति का उम्मीदवार घोषित किया गया है। नीतीश कुमार ने कहा कि कोविंद को आज ही दिल्ली जाना है इसलिए मुख्यमंत्री के रूप में राज्यपाल से मिलना उनका फर्ज भी था। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के उम्मीदवार घोषित होने पर वह सम्मान प्रकट करने के लिए कोविंद से मिलने राजभवन गए थे।

इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश ने लोकसंवाद कार्यक्रम के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि केंद्र में सत्तारूढ़ दल की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए नाम की घोषणा 1-2 दिनों के अंदर नहीं की जाती है तो 22 जून को विपक्ष की ओर से उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी जाएगी। गौरतलब है कि राष्ट्रपति पद के लिए कोविंद को समर्थन देने के मुद्दे पर फिलहाल नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस की राय जनता दल यूनाइटेड से अलग दिख रही है।

                                                                                            Source

कांग्रेस और राजद के नेताओं का कहना है कि इस मामले पर 22 जून को विपक्ष की होने वाली बैठक में फैसला लिया जायेगा। वहीं, जदयू जिसके राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश है वह अभी से ही कोविंद के समर्थन में खड़े दिख रहे है। ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है जब जदयू अपने गठबंधन के सहयोगी दलों की राय से इतर कोई फैसला ले रहा है। इससे पहले वर्ष 2012 के राष्ट्रपति के चुनाव के समय राजग में रहते हुए जदयू ने संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के उम्मीदवार प्रणव मुखर्जी का समर्थन किया था।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.