भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने सपा सांसद नरेश अग्रवाल की नेमप्लेट पर पोती कालिख


राज्यसभा में समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल के हिंदू देवी देवताओं पर विवादित टिप्पणी के बयान पर जहां बवाल मचा हुआ है वही आज SP सांसद नरेश अग्रवाल के विरोध में भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ता उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं। आज सुबह भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताअों ने SP सांसद नरेश अग्रवाल के अावास के बाहर लगी नेमप्लेट पर कालिख पोत दी।

वही समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल को फोन पर धमकी मिली है। राज्यसभा सांसद के कार्यालय ने धमकी भरे फोन की पुष्टि की है।

आपको बता दे की कल समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि 1991 में राम जन्मभूमि आंदोलन के दौरान कई रामभक्त जेल गए थे। उस वक्त कई स्कूलों को अस्थाई जेल बना दिया गाया था। ऐसे एक जेल में वो भी गए थे। उन्होंने वहां की दीवार पर ‘रामभक्तों’ द्वारा लिखे हुए दो लाइन देखे थे। उन 2 लाइनों को उन्होंने सदन को सुनाया। इनमें हिंदू देवी-देवताओं को लेकर विवादस्पद बातें कही गईं थीं। इस पर सत्ता पक्ष के आक्रामक तेवर ने काफी देर के लिए स्थिति अनियंत्रित कर दी थी। सदन की कार्यवाही कई बार स्थगित करनी पड़ी।

वही समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल को अपनी हिंदू देवी देवताओं पर विवादित टिप्पणी के बयान के लिए उन्होंने खेद प्रकट किया था । राज्यसभा में हंगामे के दौरान ही जेटली ने कहा था कि समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने हिंदू देवी देवताओं के नाम के साथ शराब को जोड़ा है। इससे लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। अगर यही बात उन्होंने सदन के बाहर कही होती तो उन पर केस दर्ज हो सकता था। वही जेटली ने समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल पूछा, क्या आप किसी और धर्म के बारे में इस तरह की टिप्पणी करने की धृष्टता कर सकते हैं?

हालांकि बाद में समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने खेद प्रकट किया और सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने अपनी तरफ से कुछ नहीं कहा। मैंने केवल दीवार पर लिखे नारे को कोट किया था जिसपर सत्तापक्ष के लोगों को आपत्ति थी। नरेश अग्रवाल के खेद प्रकट करने के बाद सदन में शोरगुल थम गया और कार्यवाही सुचारू रूप से चलने लगी।