राजनीतिक दलों का खून मौसमी नेताओं का खून है : कुमार विश्वास


Kumar Vishwas

भीड़ द्वारा लोगों पर हमला करने व जान से मारने की घटनाओं पर प्रियंका गांधी की ओर से दिए बयान “पीट-पीटकर हत्या की घटनाओं से मुझे बेहद गुस्सा आता है और मेरा खून खौलने लगता है”, पर आम आदमी पार्टी नेता कुमार विश्वास ने उन पर निशाना साधा है। कुमार ने कहा कि मौसमी नेताओं का खून अपने लिए हितकर घटनाओं पर ही खौलता है। उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी का खून 1984 की घटनाओं से खौलना चाहिए था।

                                                                                             Source

बता दें कि प्रियंका ने कहा था कि देश में पीट-पीटकर मार देने (लिंचिंग) की घटनाओं को देखकर उनका खून खौल उठता है। वहीं, कुमार ने कहा कि लोकतंत्र में इतने वर्ष की आजादी के बाद सड़क पर इस तरह लोग समूह, जाति, धर्म और खाने-पीने की पसंद के कारण मारे जाते है, लेकिन राजनीतिक दलों का जो खून है वह मौसमी नेताओं का खून है, जाे अपने लिए हितकर घटनाओं पर ही खौलता है।

                                                                                              Source

कुमार विश्वास ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त करते हैं कि दोनों भाई बहनों ने समय अंतराल बांट रखा है कि एक का जून में खून खौलेगा और दूसरे का जुलाई में। वह नानी के घर हैं तो उनका खून लौटकर खौलेगा, बीच में इनका खौल रहा है।

                                                                                             Source

वहीं, प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कुमार ने कहा कि बाकी देश में कानून की व्यवस्था जैसी है वह बड़े-बड़े आधी रात के कार्यक्रमों से, बड़े-बड़े जलसों से, बड़े-बड़े स्टूडियो में दिए गए प्रधानमंत्री के भाषणों से शायद पूरी नहीं हो पाएगी। उन्होंने कहा कि यह बहुत शर्मनाक विषय है कि गांधी पर पूरे देश में और पूरी दुनिया में फूल चढ़ाने वाले प्रधानमंत्री जी अगर लिंचिंग की घटनाओं को नहीं रोक पा रहे हैं तो वह लोकतंत्र के लिए कष्टकारी है।