मैं आदिवासी नहीं तो मेरी जाति क्या !


रायपुर : छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के सुप्रीमो और पूर्व मुख्यममंत्री अजीत जोगी ने सवाल उठाते हुए कहा कि बार-बार कहा जाता है कि मैं आदिवासी नहीं हूं। यह कहने वाले मेरी जाति क्यों नहीं बताते। आखिर कोई बताएगा कि क्या है मेरी जाति! मेरी जाति का मामला पुन: हाईकोर्ट में पुटअप होगा, मेरे सूत्र मुझे बता चुके हैं। लेकिन ये बात पुख्ता हो गई कि रमन सिंह  सत्ता में रहकर मुझसे दुश्मनी निभा रहे हैं और मैं उनका सबसे बड़ा दुश्मन हूं। अजीत जोगी आज यह कहकर सबको चौंका दिया कि सीएम रमन सिंह उन्हें अपना सबसेे बड़ा शत्रु मानते हैं। इसलिए मेरी जाति की छानबीन के लिए जो उच्चस्तरीय समिति राज्य सरकार ने बनाई है, वह दुर्भावनापूर्ण फैसला ले रही है। जोगी का कहना है कि मुझे मेरे विश्वसनीय सूत्रों से पता चला है कि मेरी जाति वाले झूठे प्रकरण में मुझे दोषी बनाया जाएगा। हालांकि अभी इस बात की अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

जोगी ने अपने निवास सागौन बंगले पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि मैं न्यायपालिका का पूरा सम्मान करता हूं और इसके खिलाफ मैं एक रिट पिटीशन दायर करूंगा। पहले भी जिला कोर्ट से लेकर हाईकोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट तक मुझे जाना पड़ा था। एक बार फिर मैं इस लड़ाई को लडूंगा। अजीत जोगी ने आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे खिलाफ जो भी कार्रवाई की जा रही है, वह अवैध और असंवैधानिक है। इससे साबित होता है कि भाजपा मेरी पार्टी से डर गई है। भाजपा मुझे नीचा दिखाने की कोशिश कर रही है, लेकिन इस षडयंत्र में कभी कामयाब नहीं होगी। अजीत जोगी ने दावा करते हुए कहा कि मैं एक कंवर आदिवासी समुदाय से हूं। ये बात अब मेरा समाज सभी को बताएगा। मेरी सरकार आई तो जाति को लेकर बने कानून में किसी प्रकार का परिवर्तन नहीं करूंगा।

आशीष शर्मा