नए प्रभारी लेंगे गतिविधियों की टोह


रायपुर: छत्तीसगढ़ में कांग्रेस संगठन के नए प्रभारी पहली कार्यकारिणी की बैठक लेंगे। मुख्य प्रभारी के साथ प्रभारी सचिवों के दौरे का कार्यक्रम तय हो गया है। आगामी 19 जुलाई को तीन दिनों के दौरे में राजधानी पहुंचने के बाद प्रभारी मैराथन बैठकें लेेंगे। इस दौरान वरिष्ठ नेताओं से भी अलगम मंत्रणाएं कर राज्य में मिशन की तैयारियों की टोह ली जाएगी। माना जा रहा है कि प्रदेश में नए प्रभारियों के आने से फिर कांग्रेस में नए समीकरण बनेंगे। नए प्रभारी पीएल पुनिया ने सीधे कार्यकर्ताओं से संवाद करने के दावे किए हैं।

इस दौरान चुनावी मिशन की रणनीतियों के अलावा वे संगठनात्मक स्तर पर नए फार्मूले भी तय कर सकते हैं। राज्य के नए प्रभारी पीएल पूनिया के आने से दलित वोटों के समीकरणों पर भी नजर होगी। पूर्व में मायावती सरकार में मुख्य सचिव रह चुके पुनिया ने दलित वोटों को लेकर बेहतर फार्मूला तैयार किया था। राज्य में कुछ क्षेत्रों में बसपा का अपना प्रभाव है।

दलित वोटों को वे कांग्रेस के पाले में लाने के लिए भी कवायद कर सकते हैं। वहीं प्रभारी सचिवों कमलेश्वर पटेल एवं अरुण उरांव को भी संभागवार जवाबदारी दी जा सकती है। इस मामले में खुद प्रभारी तय करेंगे। वहीं आलाकमान से अनुमति के बाद इसकी विधिवत घोषणा की जाएगी।

राज्य में कार्यकर्ताओं से सीधे संवाद की स्थिति में उत्साह बढ़ाकर चुनावी मिशन में झोंकने की भी रणनीति तय हो रही है। हालांकि पहली बैठक में कार्यकारिणी समेत सभी जिला और ब्लाक स्तर के पदाधिकारियों से रूबरू होंगे। वहीं संगठन के अब तक के कामकाज का आंकलन कर इसे आगे बढ़ाने की भी कवायदें होंगी।