प्रधानमंत्री ने छ.ग सहित सभी राज्य अधिकारियों को किया संबोधित


रायपुर: प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए छत्तीसगढ़ सहित सभी राज्यों के मुख्य सचिवों, अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों और जिला कलेक्टरों को संबोधित किया। श्री मोदी ने कहा- नये भारत के निर्माण के लिए आज सभी कुछ न कुछ संकल्प अवश्य लें। उन्होंने कहा कि 9 अगस्त 1942 के दिन हमारे महापुरूषों और देशवासियों ने ”अंग्रेजो भारत छोड़ो” और ”करो या मरो” का जो संकल्प लिया था, उसी संकल्प के परिणाम स्वरूप पांच साल बाद 15 अगस्त 1947 को देश को आजादी मिल सकी।

भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर आज पुन: 9 अगस्त को हम सभी को अगले पांच सालों में किए जाने वाले कार्यो के लिए संकल्पित होना होगा तभी आजादी की 75वीं वर्षगांठ यानी 2022 में हम देश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के सपनों के भारत का निर्माण में सहभागी बनेंगे।

मोदी ने कहा कि जो जिस पद पर है वहीं वह अपने विभाग या अपने जिले के लिए अगले पांच साल के लिए लक्ष्य निर्धारित करें। प्रशासनिक व्यवस्था में आना-जाना लगा रहता है, लेकिन आपके द्वारा आज लिए गए संकल्प और सभी के समन्वित प्रयास से उस विभाग या जिले को नई ऊचाईयों तक ले जा सकेंगे। प्रधानमंत्री ने जिला कलेक्टरों से कहा कि आप सभी अपने जिले का आकंलन कर उसे और आगे बढ़ाने के लिए कार्ययोजना बनाएं और जमीनी स्तर पर उसे मूर्तरूप प्रदान करें।

आज यह तय करें कि आने वाले पांच सालों में हम अपने जिले को किस समस्या से मुक्त करेंगे या किस सुविधा से युक्त करेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा पिछड़े जिलों में पोस्टिंग को अधिकारी किसी प्रकार का दण्ड न समझे बल्कि यह सोचे कि परमात्मा ने आपको उन पिछड़े, दलित और शोषित लोगों की सेवा के का अवसर दिया है।

इनके लिए काम करने पर आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और लोगों के जीवन में बदलाव भी आएगा। अच्छी योजनाओं की पहल होनी चाहिए, दूसरे जिलों में जो अच्छे कार्य हो रहे है उनका अनुसरण करने में संकोच नही  होना चाहिए।

आप सभी के सामने नए भारत के निर्माण का सुनहरा अवसर है। प्रधानमंत्री ने डिजीटल लेनदेन के लिए बनाए गए भीम आधार ऐप, स्वच्छता मिशन, जीएसटी और सरकारी खरीदी के लिए लागू की गई जैम के बारे में लोगों को जागरूक करने को भी कहा ताकि वो इसका अधिक से अधिक लाभ उठा सके।