100 बच्चों के 3 पिताओं ने कहा ‘सब अल्लाह की देन’


आजकल बढ़ते खर्चो से हर आदमी पेरशान है वही करीब 100 बच्चों के 3 पिता कहते है जिस सुन आप भी हैरान रह जायेगे।  जी हाँ , पाकिस्तान में जहां बढ़ती जनसंख्या एक समस्या चुकी है वही पाकिस्तान के अलग-अलग शहरों में रहने वाले तीन पाकिस्तान नागरिक जो है 100 बच्चों के पिता  हैं। ये खुलासा पाकिस्तान में 19 साल बाद जनसंख्या के लिए हो रहे सर्वेक्षण में सामने आया है। इनमें 2 व्यक्ति आपस में भाई हैं जिनमें से एक की उम्र 70 साल से अधिक हैं।

दूसरे भाई की उम्र 57 साल है। पाकिस्तानी के बन्नू इलाके में रहने वाले 57 वर्षीय नागरिक गुलजार खान के 36 बच्चे हैं  जिन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ता। इसका कहना है ये सब अल्लाह की देन है और अल्लाह ही उनकी जरूरतें पूरी करेगा। इन दिनों गुलजार की तीसरी पत्नी गर्भवती हैं  उन्होंने बताया कि उनके बच्चों को क्रिकेट मैच खेलने के लिए किसी के सहयोग की जरूरत नहीं पड़ती है।

गुलजार के भाई मस्तान खान वजीर जो 70 साल है इनकी भी 3 पत्नियां हैं मस्तान खान वजीर के 22 बच्चे हैं  उनका कहना है कि उनके पोते-पोतियों की संख्या इतनी ज्यादा है कि वह गिन नहीं सकते  हैं । वजीर का कहना है उन्हें अल्लाह पर विश्वास है अल्लाह ही इनकी सब जरूरते पूरी करेगा।

वही बलूचिस्तान  रहने वाले जान मोहम्मद के 38 बच्चे हैं जान मोहम्मद कहना है वे 100 बच्चे पैदा करना चाहते हैं। अब ये जनाब चौथी बीवी भी ढूंढ रहे हैं। और उनसे निगाह करेंगे ।

वही पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को माने तो  इस दशक में तेजी से बढ़ी है और पिछले महीने पाकिस्तान ने अपने विकास बजट में 40 % की वृद्धि भी की थी। वहीं पर्यवेक्षक आगाह करते हुए कहते हैं कि बढ़ती जनसंख्या प्रगति में बाधक बना है।

वही 19 वर्ष के बाद देश में जनगणना की गई है जिसकी रिपोर्ट जुलाई तक आनी है सूत्रों के अनुमान देश की जनसंख्या करीब 20 करोड़ हो जाएगी जबकि  1998 में 13.5 करोड़ थी।

संयुक्त राष्ट्र ( UN )  की जनसंख्या परिषद की कंट्री निदेशक जेबा ए. साथर बताया कि यह वाकई में समस्या है क्योंकि यह हमारी स्वास्थ्य सेवा को बुरी तरह प्रभावित कर रहा है और विकास के पर भी बुरा असर हो रहा है।

वही दुनिया में चीन जनसंख्या में नंबर 1 पर आता है और भारत दूसरे नंबर पे है ।