बवाना उपचुनाव 23 अगस्त को पार्टियों ने कसी कमर


नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने बवान विधानसभा पर उपचुनाव के लिए तारीख की घोषणा कर दी है। 23 अगस्त को उपचुनाव के लिए मतदान किया जाएगा। वोटों की गिनती 28 अगस्त को होगी और 31 अगस्त को चुनाव प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी। इस उपचुनाव में सभी पोलिंग स्टेशन पर पहली बार इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के साथ वीवीपेट मशीन का उपयोग होगा। इस संबंध में चुनाव आयोग के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बवाना विधानसभा क्षेत्र में गुरुवार से आचार संहिता लागू हो गई है। आयोग ने चुनाव के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली है। पर्याप्त संख्या में ईवीएम के साथ वीवीपेट मशीन की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि मतदान को शांतिपूर्ण ढंग से करवाने के लिए सभी कदम उठाए गए हैं।

राजनीतिक दल तैयार…
बवाना उपचुनाव के लिए आम आदमी पार्टी, कांग्रेस और भाजपा ने पहले ही उम्मीदवारों की घोषणा कर प्रचार अभियान शुरू कर दिया है। आप ने इस सीट पर रामचंद्र को, भाजपा ने पूर्व विधायक वेद प्रकाश को और कांग्रेस ने सुरेंद्र कुमार को उम्मीदवार बनाया है। इस सीट पर सीधी टक्कर भाजपा और आप में मानी जा रही है। खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल क्षेत्र का दौरा कर दिल्ली सरकार की उपलब्धियों के बारे में लोगों को बता रहे हैं। जबकि कांग्रेस पार्टी आप और भाजपा को घेरते हुए एक बार फिर से इस सीट पर कब्जा जमाने का प्रयास कर रही है।

खुद प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन यहां के हर पोल पर नजर रखे हुए हैं। माकन ने यहां विशेष टीम बनाकर हर पोलिंग बूथ के लिए विशेष कार्यकर्ताओं की पूरी फौज खड़ी कर दी है। बवाना में कांग्रेस पार्टी का मुख्य जोर मैन टू मैन मार्किंग पर है। तो वहीं दूसरी ओर भाजपा ने सांसद जाट नेता प्रवेश वर्मा को इस सीट की जिम्मेदारी दी है। गौरतलब है बवाना में बड़ी संख्या में गांव आते हैं, जिनमें जाटों की संख्या बहुतायत में है।