द्वारका वासियों को मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल


दक्षिणी दिल्ली: द्वारका में एक साल के भीतर मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल बनकर तैयार हो जाएगा। इस अस्पताल के निर्माण में आधुनिकतम तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक, देश में पहली बार एक ऐसी इमारत बन रही है जिसमें भूकंप से बचने के लिए सबसे अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। कितना भी तेज भूकंप आने की सूरत में ऊपर के फ्लोर पर मरीजों को भूकंप के बारे में पता भी नहीं चलेगा।

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि हमारी सरकार बनने के बाद इसके निर्माण कार्य में तेजी आयी है। उन्होंने कहा कि बिना काम रोके बेड की क्षमता 700 से बढ़ाकर 1225 कर दी गई है। इसके लिए काम रोकने की भी जरूरत नहीं पड़ी। इसमें सौर पैनल द्वारा बिजली की आपूर्ति होगी। यहां मेडीसिन एवं ब्लड सैंपल ऑटोमेटिक तरीके से नर्सिंग स्टेशन तक पहुंच जाएंगे। यहां गारबेज कलेक्शन की व्यवस्था भी बेहतर होगी। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह अस्पताल भूकंप की दृष्टि से भी देश का सबसे सुरक्षित अस्पताल होगा। उन्होंने कहा कि अंबेडकर नगर एवं बुराड़ी में बन रहे अस्पातल भी एक साल के भीतर बनकर तैयार हो जाएंगे। ये तीनों की अस्पताल एक साथ शुरू किए जाने की संभावना है।

सत्येंद्र जैन ने बताया कि दिल्ली सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर कार्य कर रही है। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार जल्द से जल्द इस अस्पताल को जनता को समर्पित कर देगी। इसके लिए तेजी से काम चल रहा है। इस अस्पताल की खासियत होगी यहां इस्तेमाल होने वाली तकनीक। मसलन, बहुत से काम यहां मशीनों के माध्यम से किए जाएंगे।