प्रसाद खिलाकर लूट लेते हैं ‘ई-रिक्शा’


पूर्वी दिल्ली: इन दिनों यमुनापार के इलाकों में लुुटेरों का एक ऐसा गिरोह सक्रिय है, जो लोगों को प्रसाद में नशीला पदार्थ खिलाकर ई-रिक्शा लूट लेता है। हैरानी की बात ये है प्रसाद खाने के बाद चालक को वारदात के 3-4 दिन बाद होश आता है, तो वह अस्पताल भर्ती होता है। ऐसी वारदात लगातार दिल्ली के पूर्वी और शाहदरा जिले से लगातार सामने आ रही हैं। आलम ये है कि हर तीसरे-चौथे दिन बदमाश एक वारदात को अंजाम दे रहे हैं।

ऐसे देते हैं वारदात को अंजाम…
पीडि़तों के मुताबिक ये तीन से चार लोगों का एक गिरोह है। जो सवारियां बनकर कहीं जाने के लिए ई-रिक्शा करता है। कुछ दूर जाने के बाद वह प्रसाद या पानी में नशीला पदार्थ मिलाकर चालक को दे देते हैं। उसे खाते या पीते ही वह बेहोश हो जाता है। इसके बाद वह चालक को कहीं कोने में फेककर ई-रिक्शा लूटकर फरार हो जाते हैं। इसके बाद चालक को वारदात के 3-4 दिनों बाद अस्पताल में होश आता है। तब जाकर वह अपनी शिकायत दर्ज कराता है।

इसलिए नहीं होता शक…
लुटेरों के इस गिरोह पर इसलिए आसानी से यकीन कर लेता है, चूंकि इस गिरोह में महिलाएं भी सक्रिय हैं। वारदात में पाया गया है कि वारदात करने वाले चार लोग होते हैं, तो उनमें दो महिलाएं होती हैं। वहीं अगर तीन लोग होते हैं, तो उनमें दो पुुरुष और एक महिला होती है।

– कुणाल कश्यप