होटल ताज पैलेस ने तैयार किया सन् 1947 की रात का मेन्यू


नयी दिल्ली : देश के 70 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश के ताज पैलेस होटल श्रृंखला के कुछ होटलों में 14 अगस्त की रात परोसे जाने वाले भोजन के लिये वही मेन्यू रखा गया है, जो सन् 1947 में 14 अगस्त की रात परोसा गया था। हालांकि, इसे आधुनिक भारतीय स्वरूप प्रदान किया गया है। ताज पैलेस दिल्ली के कार्यकारी शेफ राजेश वाधवा ने बताया कि मुंबई के ताज महल पैलेस के अभिलेखों को खंगाल कर स्वतंत्रता दिवस की रात का मेन्यू निकाला गया। इसे प्रमुख शेफ के साथ एक मूल्यवान ऐतिहासिक कृति के तौर पर साझा किया गया। शहर के होटल ने सावधानी से मेन्यू तैयार किया है और ऐसा करने के दौरान इसने आजादी के समय इस्तेमाल किए गए तरीकों और व्यंजन में डाली गई चीजों को ध्यान में रखा है।

हालांकि, उन्हें आधुनिक भारतीय रूप दिया गया है। इस मेन्यू का मूल्य 1947 रूपया रखा गया है। इसमें शाकाहारी और मांसाहारी व्यंजन शामिल हैं। वाधवा ने बताया, हमने न सिर्फ व्यंजन के नाम में भारतीय- फ्रेंच नाम और स्वाद बनाए रखा है बल्कि मुख्य फ्रेंच चटनी में भी इसे कायम रखा है। ताज भारतीय सशस्त्र बलों के सभी सेवारत और सेवानिवृथ कर्मियों को देश में स्थित अपने होटलों में 70 प्रतिशत की विशेष रियायत दे रहा है। ताज होटल पैलेस रिसार्ट सफारी के मुख्य राजस्व अधिकारी चिन्मई शर्मा ने बताया कि 1903 में हमारे संस्थापक जमशेदजी टाटा ने भारत की आर्थिक और औद्योगिक स्वतंत्रता के प्रति सम्मान प्रदर्शित करते हुए ताज महल पैलेस होटल बनवाया था।