भ्रष्टाचार पर प्रधानमंत्री की कथनी तथा करनी में फर्क : कांग्रेस


Congress

नई दिल्ली : कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद मोदी की कथनी तथा करनी में फर्क होने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि भ्रष्टाचार रोकने में वह असफल साबित हो रहे हैं इसलिए इस मुद्दे पर उपदेश देने की बजाए उन्हें भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भ्रष्टाचार मिटाने को लेकर श्री मोदी ने बड़ी-बड़ी बातें की थीं लेकिन उनके दावे बेकार साबित हो रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार खत्म करने की बात करने वाली मोदी सरकार ने भ्रष्टचार रोकने के लिए कांग्रेस सरकार द्वारा तैयार किए गए व्हिसल ब्लोवर कानून को ही कमजोर करने का काम किया है। इसी तरह से सूचना के अधिकार कानून को भी मोदी सरकार ने कमजोर किया है। प्रधानमंत्री के संसद में कल दिए गए भाषण भ्रष्टाचार मिलकर दूर करेंगे और करके रहेंगे’का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि श्री मोदी इस तरह के उपदेश देना बंद करना चाहिए और सबसे पहले अपने घर से भ्रष्टाचार खत्म करके इसके खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए।

भाजपा सरकार को मध्य प्रदेश के व्यापम घोटाले, छत्तीसगढ़ के चावल घोटाले के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करके गुजरात के जीएसपीसी घोटाले, ललित मोदी तथा विजय माल्या मामले के आरोपियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करनी चाहिए। संवाददाता सम्मेलन में पार्टी के वरिष्ठ नेता आरपीएन सिंह तथा राजीव गौड़ा भी मौजूद थे।