ग्रीन ग्वालियर की कवायद शुरु


ग्वालियर : शहर में अच्छी बारिश व पर्यावरण संरक्षण के लिए वृहद स्तर पर पौधारोपण करने की आवश्यकता है तथा एक साल प्रयास करने से नहीं यही प्रयास हमें लगातार कई सालों तक करना होगा तभी ग्वालियर शहर हराभरा शहर होगा। इसके लिए हमें बारिश का इंतजार नहीं करना है अभी से तैयारी करनी है तथा पहली बारिश में ही वृहद स्तर पर पौधारोपण करना होगा। उक्ताशय के विचार नगर निगम आयुक्त श्री विनोद शर्मा ने शहर की सामाजिक एवं पर्यावरण प्रेमी संस्थाओं व नागरिकों के समक्ष व्यक्त किए तथा सभी से आग्रह किया कि ग्रीन ग्वालियर की संकल्पना के लिए सभी अभी से ही जुट जाएं।

नगर निगम मुख्यालय में पौधारोपण की वृहद कार्ययोजना को लेकर शहर की सामाजिक एवं पर्यावरण प्रेमी संस्थाओं व नागरिकों की बैठक निगमायुक्त श्री विनोद शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में अपर आयुक्त नोडल अधिकारी पौधारोपण अभियान श्री आर के श्रीवास्तव सहित बडी संख्या में शहर के पर्यावरणविद, सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

बैठक में निगमायुक्त श्री शर्मा ने बताया कि ग्वालियर शहर में पानी का अत्याधिक संकट है तथा अब बारिश औसत से भी कम होता है, इसलिए जब शहर में अधिक हरियाली होगी तभी अच्छी बारिश होगी। निगमायुक्त ने बताया कि सामान्यता जब बारिश प्रारंभ हो जाती है तब हम पौधारोपण के बारे में योजना बनाते हैं तथा जब तक योजना पर कार्य होता है बारिश चली जाती है, इसलिए अब हमें अभी से वृहद स्तर पर पौधारोपण की योजना पर कार्य प्रारंभ करना होगा तथा इस बार शहर में कम से कम 10 लाख पौधा रोपण का लक्ष्य तय किया गया है।

जिसमें 5 लाख पौधे निगम लगाएगा तथा शेष सामाजिक संस्थाएं एवं अन्य माध्यम से लगाए जाएंगे। इसके साथ ही वहीं पौधे लगाए जाएंगे जो सर्वाइव कर सकें 8 से 10 फुट उंचाई वाले पौधे ही लगाए जाएं उससे छोटे पौधे नहीं लगाएं। निगमायुक्त श्री शर्मा ने बताया कि इसके लिए हमें अभी से स्थानों का चयन कर 2 बाय 2 के गडडे बनाकर उनमें जैविक खाद भरनी होगी और पहली बारिश में ही हम पौधों का रोपण करना प्रारंभ कर देगें। इसके लिए शासकीय एवं निजी स्तर पर जो भी कार्य होने हैं उन्हें अभी से पूर्ण कर लिया जाएगा।

इसके साथ ही विभिन्न प्रोजेक्टों के अधिकारियों को निगमायुक्त श्री शर्मा ने पौधारोपण के लिए लक्ष्य दिया तथ सभी को स्थानों का चयन करने के भी निर्देश दिए। निगमायुक्त ने बताया कि इस बार पौधारोपण कार्य के लिए जो भी संस्थाएं एवं नागरिक जुडेगें उन्हें सलाह देने एवं गाइड करने के लिए प्रोफेसर जी एस भारद्वाज के नेतृत्व में सेवा निवृत्त अधिकारियों एवं विशेषज्ञों का दल तैयार है जो कि इस कार्य में हम सभी की मदद करेगा।

बैठक में पौधारोपण के कार्य से पिछले लम्बे समय से जुडे नागरिकगण भी मौजूद रहे।उन्होंने उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारे में भी बताया तथा आगामी समय में निगम के साथ पूर्ण सहयोग से कार्य करने का आश्वसन दिया। बैठक में श्री अजीत बरैया ने बताया कि उनके द्वारा गोपाचल पर्वत पर पिछले कई वर्षों से कार्य किया जा रहा है तथा वाटर हार्वेस्टिंग से पानी का भी रीयूज किया जा रहा है। वहीं एम के सिटी के श्री रघवेन्द्र अवस्थी ने बताया कि उनके द्वारा सीवर के पानी को ट्रीटकर उसका यूज पौधों की सिंचाई के लिए किया जा रहा है।

वहीं अन्य लोगों ने भी अपने – अपने कार्यों की जानकारी दी। बैठक में प्रोफेसर जी एस भारद्वाज, डा सर्वेश पुरोहित, डा बलवंत सिंह भदौरिया, इंद्रदेव सिंह, अनिल कपूर, राघवेन्द्र अवस्थी, डा रेखा भदौरिया, डा सपन पटेल, डा मीरा वर्मा, श्री लक्ष्मन सिंह बघेल, श्री वरुण, राजीव पोपली, डा कुशी रवानी, श्री समर सिंह, श्री वेदपाल झा, श्री वीआर बत्रा, श्री अनुपम तिवारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यह क्लिक करे