गुजरात में लगातार भारी वर्षा के दौरान पांच की मौत


 

गांधीनगर : गुजरात में आज लगातार दूसरे दिन भी कई स्थानों पर अति भारी वर्षा के चलते जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है कई गांव संपर्क विहिन हो गये हैं सैकडो लोगों को बचाया अथवा सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है जबकि कुछ महत्वपूर्ण राष्ट्रीय राजमार्ग समेत 31 से अधिक सडके जलभराव तथा पुल टूटने के कारण बंद हो गयी हैं। पिछले 48 घंटे में वर्षा जनित घटनाओं में पांच लोगों की मौत हुई है जिनमें एक आठ वर्षीय बालक समेत दो लोग आज पानी में बह गये। एक मौत सुरेन्द्रनगर के सायला तथा राजकोट के लोधिका तालुका में हुई। इसके अलावा बिजली गिरने से दो तथा वर्षा से दीवाल गिरने से एक व्यक्ति की मौत हुई है।

कई स्थानों पर पशुओं के बह जाने की भी सूचना है। जामनगर के अलियावाला में एक वाहन के पानी में बह जाने की सूचना है। रेल पटरियों के क्षतिग्रस्त होने से आधा दर्जन से अधिक ट्रेने रद्द की गयी हैं। कल सुरेन्द्रनगर के चोटिला में हुई 450 मिमी वर्षा के बाद आज भी वहां दसादा में 235 मिमी, ध्रांगध्रा में 121 मिमी, वढवाण में 105 मिमी वर्षा हुई। कल राजकोट शहर में 238 मिमी वर्षा के बाद आज भी शाम छह बजे तक 200 मिमी वर्षा दर्ज की गयी है। कल मोरबी के टंकारा में 340 मिमी वर्षा के बाद आज मोरबी शहर में 114 मिमी वर्षा हुई।

जामनगर के जोडिया में आज 138 मिमी बरसात हुई। आज वर्षा का कहर कच्छ जिले के कई हिस्सों में रहा और सर्वाधिक 175 मिमी अब्डासा में दर्ज हुई। भचाऊ और भुज में 106 मिमी वर्षा दर्ज की गयी। आज शाम छह बजे तक 192 तालुका में वर्षा हुई जिनमें से 23 तके 75 मिमी अथवा अधिक तथा 36 में 50 मिमी अथवा अधिक दर्ज की गयी। वायु सेना ने सुरेन्द्रनगर के बारड में हेलीकाप्टर के जरिये 12 लोगों को बचाया। उधर एनडीआरएफ की टीम ने 100 से अधिक लेागों को बचाया है जबकि अनुमानत: 5 हजार से अधिक लोगों नदियों के ऊफान पर आने और डैम तथा जलाशयों के छलकने के कारण सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है।

कल से आज सुबह तक मोरबी के टंकारा जहां करीब एक पखवाडा पहले ही 11 ईच बरसात हुई थी 340 मिमी यानी 14 ईंच बरसात दर्ज की गयी है। वलसाड के कपराडा में 260 मिमी, सुरेन्द्रनगर के मूली में 160 मिमी राजकोट के पडधरी में 159 मिमी बरसात हुई है। बरसात के कारण राजकोट मोरबी समेत अन्य स्थानों पर स्कूल कॉलेज बंद कर दिये गये हैं।

राजकोट शहर में भी जबरदस्त जलभराव है। राज्य में भारी बरसात से पैदा स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने एक आपात समीक्षा बैठक की और आवश्यक दिशा निर्देश जारी किये। एनडीआएफ की टीमे मोरबी बनासकांठा और सुरेन्द्रनगर में राहत और बचाव कार्य कर रही हैं। इन्हें कच्छ के लिए भी रवाना किया गया है। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटे के दौरान भी भारी से अति भारी वर्षा की संभावना व्यक्त की है।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.