BJP के लिए गहरी मुश्किल का सबब बन सकती है नितिन पटेल की नाराजगी


Nitin Patel

गुजरात में पाटीदार आरक्षण आंदोलन तथा कई तरह के आंदोलनों और कांग्रेस के जोरदार विरोध से निपट कर लगातार छठी बार सत्तारूढ हुई भाजपा के लिए अब उपमुख्यमंत्री और कद्दावर पाटीदार नेता नितिन पटेल की कथित नाराजगी गहरी मुश्किल का सबब बन सकती है।

विभागों के बटवारे में कथित अपमान के चलते पटेल ने दो दिन पहले विभागों का आवंटन होने के बावजूद आज दोपहर तक पदभार ग्रहण नहीं किया था और उन्हें मनाने के प्रयास में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेताओं को भी लगाया गया है। उधर, उनके धुर विरोधी रहे पास नेता हार्दिक पटेल समेत पाटीदार समुदाय के कई नेता खुलकर उनके समर्थन में सामने आ गये हैं।

बहुमत के लिए जरूरी 92 से मात्र सात ही अधिक यानी 99 सीटें जीत कर पिछली बार से कमजोर ढंग से सत्तारूढ़ हुई भाजपा के लिए पटेल का बगावती तेवर खासी परेशानी पैदा कर सकता है। हार्दिक ने तो उन्हें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की कथित दादागिरी से निपटने के लिए सीधे तौर पर दस विधायकों के साथ भाजपा छोड़ने यानी सरकार गिराने का सुझाव दे दिया है। ऐसा करने पर उन्हें कांग्रेस में योग्य स्थान दिलाने का ऑफर भी दिया।

पाटीदारों के संगठन सरदार पटेल ग्रुप के प्रवक्ता पूर्विन पटेल समेत कुछ अन्य नेताओं ने आज पटेल ने उनके अहमदाबाद के थलतेज स्थित आवास पर मुलाकात की। उन्होंने कहा कि एक पाटीदार नेता के तौर पर पटेल को उनका पूरा समर्थन है। इस बीच पटेल को मनाने के लिए उनके कक्ष को मुख्यमंत्री जैसा बड़ा बनाया जा रहा है। उन्हें अगले मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान कुछ और विभाग दिये जाने का कथित तौर पर आश्वासन भी दिया गया है पर अब तक पटेल का रवैया अड़ियल ही दिख रहा है।

आम तौर पर मीडिया के साथ दोस्ताना संबंध रखने वाले पटेल पिछले दो दिनों से किसी मीडियाकर्मी का फोन भी नहीं उठा रहे। उधर, आज सुबह यहां फ्लावर शो का उद्घाटन करने आये मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने नितिन पटेल की नाराजगी के बारे में पूछे जाने पर मीडिया से ही कन्नी काट ली। यह कहते हुए मुझसे फ्लावर शो के बारे में ही पूछिये, वह मीडिया से दूर चले गये।

पाटीदार आंदोलन के दौरान सरकार की ओर से मजबूती से मोर्चा संभालने वाले नितिन पटेल से वित्त, नगर विकास और पेट्रोरसायन जैसे विभाग छीन लिये जाने बाद से वह कथित तौर पर सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल भी नहीं कर रहे। उनके बतौर उपमुख्यमंत्री इस्तीफा देने की संभावना के बारे में भी यहां सियासी हलकों में अटकलें तेज हैं।

उधर, राज्य के नये वित्त मंत्री बनाये गये सौरभ पटेल ने आज विधिवत राजधानी गांधीनगर में अपना पदभार संभाल लिया। उन्होंने कहा कि वह ऐसा बजट बनाने का प्रयास करेंगे जो आम लोगों की पसंद का हो।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.