बिजली चोरी रोकने गई टीम पर हमला


रेवाड़ी: जिले के गांव मैदपुर में बिजली चोरी पकडऩे गई निगम की टीम पर हमला बोल दिया। कुछ युवकों ने लाठी, डंडों व पत्थरों से हमला कर निगम के एसडीओ, जेई व विजिलेंस विभाग के एक कर्मी समेत सहित चार कर्मचारी घायल कर दिया। गनीमत यहां तक आ पहुंची कि कुछ कर्मचारियों को खेतों में छिपकर खुद को बचाना पड़ा। घायलों को ट्रामा सेंटर में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। पुलिस ने इस संबंध में गांव के 10-12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरु कर दी है। जानकारी के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली चोरी की लगातार मिल रही शिकायतों के बाद विभाग ने इन पर अंकुश लगाने के लिए धारूहेड़ा सब डिवीजन की तीन टीमें गठित की गई और कार्रवाई के लिए रवाना हुई।

विभागीय टीम ने जिले के गांव भाड़ावास, जैतड़ावास, सुलखा व गांव बेरवाल के अनेक घरों में छापे मारे तथा कुल 11 लोगों को चोरी करते रंगे हाथों पकड़ा। इसके उपरांत टीम जैसे ही गांव मेदपुर में प्रवेश किया तो पहले से घात लगाए बैठे गांव के 10-12 युवकों ने विभागीय टीम पर लाठी-डंडों व पत्थरों से हमला बोल दिया। अचानक हुए इस हमले से बिजली कर्मी सकते में आ गए तथा इधर-उधर शरण लेकर खुद को बचाया। इस हमले में एसडीओ राजसिंह, जेई नरेंद्र, विजिलेंस विभाग के भीम सिंह व लाइनमैन घनश्याम घायल हो गए। इसके अलावा कुछ कर्मचारियों ने खेतों में छिपकर स्वयं को बचाया। सभी घायलों को स्थानीय ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया गया है। पुलिस के अनुसार विभागीय शिकायत के आधार पर 10-12 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है। सभी आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

– शशि सैनी