1000 दिन के शासनकाल में भाजपा ने नहीं की कोई नई परियोजना शुरू: हुड्डा


पिपली: हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आरोप लगाया कि भाजपा ने अपने 1000 दिन के शासन में किसी भी नई परियोजना को शुरू नहीं किया। जो परियोजनाएं कांग्रेस के राज में बनी थी, उनका ही नाम बदलकर काम किया जा रहा है। हुड्डा पिपली विश्राम गृह में पत्रकार सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर पूर्व सांसद कैलाशो सैनी, इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के पूर्व चेयरमैन जलेश शर्मा, जिला परिषद के पूर्व चेयरमैन मेवा सिंह, मंदीप चट्टा, मेहर सिंह रामगढ़, राजीव गोयल, सुनीता नेहरा, जसमेर सुनारियां, शमशेर मलिक , धर्मबीर दहिया, विनोद गर्ग, जसपाल बिहोली, नैब छारपुरा, राजबीर रतगल, रवि देशवाल, दुष्यंत बख्शी सहित अनेक कांग्रेसी कार्यकर्ता उपस्थित थे।

हुड्डा ने उपभोक्ता फोरम के चेयरमैन दीनानाथ अरोड़ा के निवास स्थान पर जाकर उनके बड़े भाई सतपाल अरोड़ा की मृत्यु पर शेाक जताया। इसी प्रकार हुड्डा ने नगर के व्यापारी सुभाष सहगल के निधन पर भी उनके घर जाकर शोक जताया व पीडि़त परिवारों को सांत्वना दी। हुड्डा ने कहा कि प्रदेश में आज जिन भी परियोजनाओं पर कार्य चल रहे हैं। वह केवल कांग्रेस सरकार की देन है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में किए गए किसी भी वायदे को पूरा नहीं किया। भाजपा के शासन में मंडियों में किसानों की सुरजमुखी व आलू की फसलों को कोढिय़ों के भाव खरीद कर कर्जदार बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कें द्र सरकार ने जी.एस.टी. लागू करते समय 45 प्रतिशत चीजों को रिव्वन्यू से बाहर करके किसान व व्यापारी पर टैक्स थोपनें का काम किया है।

यदि केंद्र सरकार द्वारा पैट्रो पदार्थों आदि को भी जी.एस.टी. के दायरे में लाया जाता तो देश के किसान व व्यापारी पर जी.एस.टी. की दोहरी मार नहीं पड़ती। उन्होंने कहा कि सरकार ने जी.एस.टी. को लागू करके इंस्पैक्ट्री राज को बढ़ावा देने का काम किया है। उन्होंने इनैलो द्वारा एस.वाई.एल. के पानी लाने व नहर खुदाई की बात पर कटाक्ष करते हुए कहा कि हरियाणा के किसानों को एस.वाई.एल.का पानी न मिलने की दोषी हमेशा इनैलो पार्टी रही है। यदि पूर्व में इनैलो पार्टी द्वारा राजीव लोगोंवाल समझौते का विरोध नहीं किया जाता तो आज प्रदेश के किसानों को इस नहर का पानी मिल गया होता।

– जरनैल सिंह