चौटाला से सबक लें भाजपा के हुक्मरान : सुरजेवाला


surjewala

जींद: कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने आज कहा कि किसानों और मजदूरों पर गोलियां चलवाने वालों को इंडियन नेशनल लोकदल(इनेलो)सुप्रीमों एवं हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला से सबक लेना चाहिए जो आज जेल की सलाखों के पीछे हैं। श्री सुरजेवाला ने’हक मांगो’अभियान के तहत हरियाणा कृषक समाज और हरियाणा किसान खेत मजदूर कांग्रेस के बैनर तले यहां लघु सचिवालय परिसर में आयोजित किसान-मजदूर बचाओ धरने को सम्बोधित करते हुये यह बात कही। उन्होंने चौटाला शासन में कंडेला में किसानों पर हुई पुलिस फायरिंग की याद ताजा करते हुये कहा कि इसके बाद हरियाणा में ऐसा जलजला उठा कि श्री चौटाला को न केवल सत्ता से हाथ थोना पड़ा बल्कि जेल भी जाना पड़ा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी , मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को चौटाला शासन से सबक लेने की जरूरत है अन्यथा देश में किसान और श्रमिक वर्ग सहित पिछड़े और छोटे दुकानदारों का ऐसा सैलाब उठेगा कि दिल्ली, चंडीगढ़ और मध्यप्रदेश में बैठे भाजपा के हुक्मरानों को गद्दी से चलता कर देगा।

उन्होंने दावा किया कि केंद, की भाजपा सरकार किसानों की ब्याज राहत योजना बहाल कर झूठी वाह-वाही लूटने का प्रयास कर रही है जबकि कांग्रेस सरकार ने ही वर्ष 2006-07 के बजट से किसान को तीन लाख तक मिलने वाले ऋण पर ब्याज की दर सात प्रतिशत निर्धारित कर दी थी तथा समय पर ऋण चुकाने वाले किसान को तीन प्रतिशत ब्याज की राहत देते हुये ब्याज दर चार प्रतिशत तक घटा दी थी। उन्होंने केंद, सरकार पर आरोप लगाया कि वर्ष 2017-18 में उसने इस ब्याज राहत योजना को बंद करने का निर्णय ले लिया। मंदसौर सहित देशव्यापी आंदोलन के चलते केंद, की भाजपा सरकार ने आनन-फानन में गत 14 जून को मंत्रिमंडल की बैठक में ब्याज राहत योजना को बहाल कर दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा को कृषक और मजदूर समाज को बताना होगा कि योजना क्यों बंद की गई थी। उन्होंने किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य देने का वादा पूरा करने की भी कें द, सरकार से मांग की। इससे पहले उन्होंने तथा उपस्थित जनसमूह ने मध्यप्रदेश के मंदसौर में छह किसानों की मौत पर दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धाजलि दी। इस दौरान धरना स्थल पर पहुंचे एसडीएम अश्वनी मलिक को श्री सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा।