प्रेमी संग मिलकर पति की हत्या


कोसली: कोसली नाहड़ रोड से गत जून माह की दस तारीख से लापता म.प. के कटनी जिले के सिजेहरी गांव के मूल निवासी कमलेश सिंह के लापता होने की गुत्थी आज कोसली पुलिस ने मोबाईल फोन की कॉल रिकाडऱ् की मदद से सुलझा ली तथा कमलेश का शव खेड़ी गांव की सीमा से लगते एक खेत से बरामद कर लिया। मामला मृतक की पत्नी के अवैध संबंधों का निकला। उल्लेखनीय है कि कोसली आरओबी के समीप रहने वाले एक परिवार की महिला ने गत 13 जून को अपने पति की गुमशुदगी का मामला कोसली थाने में दर्ज कराया था। म.प. के सिजेहरी गांव की मूल निवासी महिला मायादेवी पत्नी कमलेश सिंह ने अपने पति को गत 10 जून से लापता बताया था। पुलिस ने उसकी शिकायत पर दण्ड संहिता की धारा 346 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया था।

महिला ने पुलिस को अपने पति का मोबाईल फोन नम्बर दिया था। पुलिस ने शक के आधार पर उसके फोन की कॉल रिकार्ड हासिल की तो खेड़ी गांव के संदीप पुत्र कंवर सिंह को उसके लगातार सम्पर्क में पाया। महिला व उसका पति कमलेश तीन-चार माह संदीप के ट्यूबवैल पर श्रमिक के रूप में रहे थे। पुलिस ने खेड़ी गांव जाकर युवक संदीप से पूछताछ की तो उसने कमलेश की हत्या करने की बात कबूल कर ली तथा बताया कि उसने लाश को खेत में दबा दिया था। मामले में मृतक की पत्नी की सहमति की बात भी संदीप ने पुलिस को बताई।

संदीप के अनुसार उसने गत 10 जून को मृतक कमलेश को खेत में ले जाकर शराब पिलाई तथा बाद में कस्सी से मारकर हत्या कर दी तथा उसके शव को खेत में दबा दिया। यह जानकारी सामने आने के बाद आज मंगलवार को पुलिस नाहड़ के नायब तहसीलदार बोद्धराज, डीएसपी अनिल, एसएचओ सुरेन्द्र कुमार व नाहड़ चौकी प्रभारी नरेन्द्र सिंह के साथ संदीप को लेकर उसके द्वारा बताए खेत में पहुँची तथा दखौरा गांव के जयप्रकाश पुत्र कूड़ाराम के खेत से कमलेश के शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए रेवाड़ी भिजवाया।

– सुनील गर्ग