वर्णिका को न्याय नहीं मिला तो पूरे देश की बेटियों का कानून से उठ जाएगा भरोसा: हुड्डा


रोहतक: पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने कहा कि अगर बराला प्रकरण में पीडित को न्याय नहीं मिला तो पूरे देश की बेटियों का कानून से भरोसा उठ जाएगा। साथ ही उन्होंने चंडीगढ़ पुलिस पर सवाल उठाएं। हुड्डा ने कहा कि चंडीगढ़ पुलिस द्वारा छेडछाड मामले में बार बार धाराएं बदलना संदेह पैदा करती है और इस मामले में अब गृहमंत्रालय को भी स्पष्टीकरण देना चाहिए। पूर्व सीएम ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने जब सता छोडी उस वक्त प्रदेश पर 71 हजार करोड रूपए का कर्ज था और आज तीन साल के अंदर प्रदेश पर डेढ लाख करोड रूपए का कर्ज हो गया है।

उन्होंने कहा जब यूपी, महाराष्ट्र की सरकार किसानों का कर्ज माफ कर सकती है तो हरियाणा सरकार क्यों नहीं। हुडा ने कहा कि लोकसभा में किसानों की कर्ज माफी को लेकर सांसद दीपेन्द्र सिंह हुड्डा ने सवाल उठाया था, जिसके जबाव में अरूण जेटली ने साफ कहा कि किसानों के कर्ज माफ नहीं होगे। प्रदेश सरकार ने एक भी वायदा पूरा नहीं किया है और जनता को गुमराह करने के लिए किसी प्रकार का भी शगुफा छोड़ते है। पूर्व मुख्यमंत्री ने एसवाईएल के पानी व चंडीगढ़ में हाईकोर्ट बनने का मामला फिर उठाया। पूर्व मुख्यमंत्री शनिवार को रोहतक पहुंचे और कई निजी कार्यक्रमों में शिरक्त की। बाद में आदर्श नगर स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से भी रूबरू हुए। भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने कहा कि आज प्रदेश में बिजली को लेकर मारा मारी मची हुई है, जबकि कांग्रेस शासनकाल के दौरान बिजली सरपल्स थी।

अब सरकार बताए आखिर जनता को पूरी बिजली क्यों नहीं मिल रही है, जबकि चार थर्मल प्लांट कांग्रेस शासनकाल के दौरान लगाए गए थे। हुडा ने कहा कि इससे साफ है कि थर्मल प्लांटो को चलाया नहीं जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि स्वामीनाथ रिपोर्ट लागू करने का वायदा करने वाली भाजपा आज अपने 154 वायदों को भी भूल गई है। तीन साल के शासनकाल के दौरान एक भी वायदा भाजपा ने पूरा नहीं किया। बराला प्रकरण में पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष के इस्तीफे को लेकर हुड्डा ने कहा कि यह भाजपा का मामला है और वर्णिका को इस मामले में पूरा न्याय मिलना चाहिए, लेकिन जिस तरह से चंडीगढ़ पुलिस ने जांच के नाम पर खेल किया है, इससे एक संदेह पैदा होता है कि इसमें राजनीति दबाव डाला गया है। उन्होंने कहा कि अगर वर्णिका को न्याय नहीं मिला तो पूरे देश की बेटियों का कानून से भरोसा उठ जाएगा। इस अवसर पर पूर्व मंत्री कृष्णमूर्ति हुड्डा, पूर्व विधायक भारत भूषण बतरा, संत कवर, मेयर रेणु डाबला, जयदीप धनखड मौजूद रहे।

(मनमोहन कथूरिया)