होडल-पलवल में बाजार बंद


होडल: केन्द्र सरकार द्वारा पूरे देश के कपड़ा व्यापारियों को जीएसटी के दायरे में शामिल करने के विरोध में ऑल इंडिया कपड़ा एसोसिएशन के आह्वान पर होडल के सभी कपड़ा व्यापारियों ने आज अपनी दुकानों को बंद कर विरोध प्रदर्शन किया। गढिय़ा बाजार में बैठे कपड़ा व्यापारियों ने सरकार विरोधी नारे लगाए तथा टैक्स वापस ना लेने पर यूयिन द्वारा अनिश्चितकालीन बंद का आह्वान करने पर उसको समर्थन देने का वायदा किया। होडल कपड़ा यूनियन प्रधान रमेश गर्ग व पुरुषोतम गर्ग ने कपड़ा व्यापारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश के इतिहास में आजादी से ले कर अब तक किसी भी सरकार द्वारा कपड़ा पर किसी भी प्रकार का टैक्स नहीं लगाया गया है। लेकिन जनता की बनाई हुई भाजपा की सरकार द्वरा इतिहास मे पहली बार कपड़ा व्यापारियों को जीएसटी में शामिल कर उन पर टैक्स लगाने का कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कपड़ा व्यापारियों द्वारा अभी तक किसी भी प्रकार का टैक्स अदा न करने के कारण उनको कागजी कार्रवाई का अनुभव नहीं है तथा इस कारण कपड़ा व्यापरियों खासकर अनपढ़ दुकनदारों को भारी परेशानी का समना करना पड़ेगा तथा उनको अपनी दुकानों को बंद करने तक नौबत का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अगर केन्द्र सरकार द्वारा कपड़ा व्यापारियों पर लगाया गया जीएसटी वापस नहीं लिया गया तेा कपड़ा व्यापारी आरपार की लडाई लडऩे से भी पीछे नहंी हटेगें। इस अवसर पर कपड़ा व्यापारी अनिल सिंगला, नंदकिशोर जैन, देशराज कालड़ा, कैलाश गर्ग, सेवाराम मंगला, शिखर चंद जैन, धर्म गर्ग, महैन्द्र सिंगला, त्रिलोक बंसल, यशपाल कालड़ा, श्याम सुन्दर मंगला, मुकेश जैन, संजय जैन, रवि कुमार सौरोत आदी मौजूद थे।

– बलराम/गौरव