अब पूरे देश में किसानों व व्यापारियों को लेकर मैदान में उतरेगी कांग्रेस


रोहतक: भाजपा सरकार के तीन साल के पूरे होने के जश्र को फीका करने के लिए कांग्रेस ने रणनीति शुरू कर दी है। अब प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश में कांग्रेस किसानों व व्यापारियों को साथ लेकर मैदान में उतरेगी। तीन दिन पहले ही पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी से मिलकर प्रदेश में शुरू की गई किसान महापंचायत के बारे में बताया, जिस पर सोनिया गांधी ने पूर्व सीएम की पीठ थपथपाई और यह भी माना जा रहा है कि जल्द ही कांग्रेस इस तरह से जुडे मुद्दों को लेकर जनता के बीच जाएगी। खास बात तो यह है कि जीएसटी का जिस तरह से विरोध किया जा रहा है, कांग्रेस व्यापारियों के साथ खड़ी हो गई है। एक तरह से पूर्व मुख्यमंत्री को भी किसान महापंचायत से बड़ी ताकत मिली है और वह एक किसान नेता के रूप में उभर कर सामने आए है।

अब पूर्व मुख्यमंत्री हरियाणा में बड़ी रैली करने की तैयारी में है। साथ ही यह भी चर्चा शुरू हो गई है कि जल्द ही प्रदेश में संगठन में बदलाव देखने को मिलेगा। भले ही कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर, कुलदीप बिश्रोई, किरण चौधरी व रणदीप सुरजेवाला अलग अलग आंदोलन चलाए हुए है, लेकिन हाईकमान की प्रत्येक आंदोलन पर नजर है। प्रदेश में भाजपा सरकार के ढाई साल के शासनकाल को लेकर अब कांग्रेस ने जनता के बीच जाने की तैयारी कर ली है और सरकार की जनविरोधी नीतियों के बारे में लोगों को अवगत कराया जा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा का कहना है कि भाजपा के करीब तीन साल के शासनकाल के दौरान प्रदेश में न तो कोई बड़ा प्रोजेक्ट लगा और न ही बेरोजगारों को रोजगार दिया गया है। यहां तक फरवरी 2016 में हुए जाट आरक्षण आंदोलन में सीधे सीधे भाजपा सरकार की कसुरवार है। पूर्व सीएम का कहना है कि प्रकाश सिंह आयोग की रिपोर्ट यह साबित कर चुकी है कि हिंसा में भाजपा सरकार की बड़ी चूक रही है और सरकार की जिम्मेदार है।

प्रदेश में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम करोड़ों रूपए का घोटाला हुआ है, जोकि अभी भी जारी है। किसानों की बिना सहमति से उनके खातों से रूपए काटे गए है, जोकि बीमा कम्पनियों को सीधा सीधा फायदा पहुंचाया गया है। इसके अलावा कांग्रेस स्वामीनाथ रिपोर्ट सहित 15 मुद्दों को लेकर किसानों के साथ खड़ी है। आज प्रदेश में कानून व्यवस्था, जीएसटी, बिजली पानी समस्या, महंगाई, कर्मचारी विरोधी नीति सहित अनेक ऐसे मुद्दे है, जिन्हें कांग्रेस ने हाथों हाथो ले लिए है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा कहते है कि भाजपा की जीरो टोलरेंस की नीति सिर्फ दिखावा है, जबकि तीन साल के शासनकाल के दौरान सरकार ने भ्रष्टाचार की सभी हदे पार कर दी है। चाहे गुरूग्राम की गवाल पहाडी का मामला हो या सरकारी तंत्र में भ्रष्टाचार। आज प्रदेश का प्रत्येक सरकार की नीतियों से बेहद परेशान हो चुका है। किसान महापंचायतों के जरिए एक तरह से कांग्रेस ने जनता की नब्ज टटौली है, जिसमें लोगों का आक्रोश सरकार के प्रति साफ दिखाई दिया है। किसान महापंचायतों में बढ़ती भीड़ से सरकार को सोचने पर मजबूर कर दिया है।

(मनमोहन कथूरिया)

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.

Send this to a friend