पांच दिन से बिजली गुल लोगों ने लगाया जाम


गुरुग्राम: सबका साथ, सबका विकास का नारा देने वाली बीजेपी सरकार लगता है शायद अधिकारियों का ही साथ दे रही है। शिकायत करने के बावजूद अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे और क्षेत्र में बिजली के लंबे-लंबे कट लग रहे हैं, जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। सेक्टर-18 स्थित सरहौल गांव में तो पांच दिनों से बिजली, पानी ही नहीं आ रहा। बिजली नहीं आने से ग्रामीण परेशान हैं। बिजली कार्यालय में जाकर शिकायत भी की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई और समस्या जस की तस बनी रही। आखिर ग्रामीणों का सबर का बांध टूट गया और जनपैक्ट के पास जाम लगा दिया। जाम लगने की सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर आ गया और ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की। लेकिन ग्रामीण बड़े अधिकारी के आने की बात पर अड़े रहे। आखिकार ग्रामीणों की मांग पर एसडीएम मौके पर पहुंचे और उन्होंने ग्रामीणों को चार घंटे में बिजली बहाल होने का आश्वासन दिया। तब जाकर ग्रामीणों ने जाम खोला।

पांच दिनों से बिजली-पानी नहीं आने से परेशान ग्रामीणों के सब्र का बांध आखिरकार शनिवार को टूट गया और उन्होंने जाम लगा दिया। ग्रामीण रतन लोहिया, बालकिशन लोहिया, तुलाराम लोहिया, दीवान यादव, ओम कुमार, गिरवर ने बताया कि भीष्ण गर्मी पडऩे के कारण बच्चों, बुजुर्गो व महिलाओं को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि बिजली नहीं आने के कारण पानी की समस्या भी आ गई। गर्मी उपर से पानी नहीं होने के कारण लोगों को पानी खरीदकर पीना पड़ रहा है। ग्रामीण ओम कुमार ने बताया कि यहां बिजली के लिए त्राहि-त्राहि मची हुई है, अधिकारी शिकायत सुनने को तैयार नहीं है ऐसे में जाएं तो कहां जाए उनके पास प्रदर्शन करना ही एक मात्र विकल्प बचता है। टैंकर से पानी खरीदकर किसी तरह बच्चों की प्यास बूझा रहे हैं लेकिन बिजली न आने के कारण मच्छरों व गर्मी से बुरा हाल है।

ग्रामीण दीवान यादव ने बताया कि कई बार बिजली विभाग में जाकर बिजली न आने की शिकायत भी की लेकिन अधिकारी और कर्मचारी कुछ भी सुनने को तैयार नहीं है। गर्मी के मौसम में बिजली न आने के कारण उन्हें काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। छोटे-छोटे बच्चों और बुजुर्गों का तो गर्मी में बुरा हाल है। महिला सविता, बबिता ने बताया कि बरसात का मौसम चल रहा है, मच्छर हो रहे हैं, इंवर्टर काम नहीं कर रहा। ऐसे में खाना बनाना व घरेलू काम करना महिलाओं के लिए बहुत मुश्किल हो रहा है। पांच दिनों से बिजली नहीं आने और अधिकारियों की कुंभकर्णी नींद से नहीं जागने के कारण ग्रामीणों ने जाम लगा दिया। जाम की सूचना पर पहुंचे एसडीएम ने ग्रामीणों को चार घंटे में बिजली बहाल करने का आश्वासन दिया। एसडीएम के आश्वासन के बाद ही ग्रामीणो ने जाम खोला।

– सतबीर भारद्वाज