चोटी काटने की घटनाओं को लेकर हरकत में आया प्रशासन


फिरोजपुर झिरका: खंड के गांव साकरस में चोटी काटे जाने की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रहा है। गांव में पांच महिलाओं की चोटी के बाद गांव में दहशत का माहौल है। सांय ढलते ही महिलाएं अपने घरों से बाहर निकलने में कतरा रही है। रविवार को उप पुलिस अधीक्षक और थाना प्रभारी ने मौके पर जाकर सारे मामले की गहनता से पूछताछ की। उप पुलिस अधीक्ष यादराम बिशनोई का कहना है कि पीडि़त पांच महिला खातूनी, असरी, सकूनत, अंजुम सहित एक अन्य युवती ने पुलिस को बताया कि वो जब अपने घर में ही थी कि अचानक जोर से गर्दन में झटका लगा और किसी को काले कपड़े में औरत जो राक्षस की तरह दिखती थी वो दिखी और कोई महिला बिल्ली नजदीक होने की बात को बताया लेकिन बाल कटने के बाद कोई नहीं दिखाई देता।

वही पांचों महिला अभी पूर्ण रूप से स्वस्थ्य नहीं है। वही इलाके में चोटी कटने की एक अन्य वारदात रात्रि को पशु पैठ के समीप की है जहां 65 वर्षीय महिला की चोटी कट गई। वही पुलिस अधीक्षक के साकरस से आने के बाद ही एक अन्य महिला की चोटी कट गई। जिसे बेहोशी की हालत में इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ठीकरी पहरा लगाने की अपील की: उप पुलिस अधीक्षक यादराम बिश्नोई और थाना प्रभारी कुलदीप सिंह ने इलाके के लोगों से अपील की है कि वो अपने-अपने गांवों में ठिकरी पहरा लगाए और किसी संदिग्ध के मिलने पर पुलिस को सूचना दे और किसी अफवाहो पर ध्यान नहीं दे।

(पुष्पेंद्र शर्मा)