यमुना का जलस्तर बढ़ा


ग्रेटर फरीदाबाद: ताजेवाला बांध से छोड़ा 1.41 लाख क्यूसिक पानी धीरे-धीरे दिल्ली ओखला बैराज पर पहुंच गया है। जिसकी वजह से यमुना का जलस्तर बढऩे लगा है। अधिकारियों का दावा है कि पानी अधिक नहीं आएगा, जो आएगा भी तो वह घेरे के अंदर ही बहेगा। इससे फसलों में किसी भी तरह का कोई नुकसान होने की उम्मीद नहीं है। पानी शुक्रवार की शाम को पांच बजे दिल्ली पहुंचना शुरू हो गया। पानी की शनिवार तक पूरी तरह से दिल्ली पहुंच गया।

यमुना के बढ़ते हुए जलस्तर को लेकर प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है। प्रशासन ने पहले से ही सभी गांवों में लोगों को सावधान रहने के आदेश दे दिए हैं। पंचायतों के ग्राम सचिव व पटवारियों ने अपने-अपने गांवों का दौरा किया। ग्रामीणों से यमुना के बारे में पूरी जानकारी ली और फिर तहसीलदार, व खंड पंचायत एवं विकास अधिकारियों के माध्यम से उपायुक्त समीरपाल सरो को जानकारी दी। जब यमुना का जलस्तर घट कर एक नाले का रूप ले लेता है तो कुछ किसान नदी के घेरे के अंदर घुस कर तले में सब्जियों की खेती कर लेते हैं। इन किसानों ने सब्जियों की खेती फरवरी और मार्च में लगा दी थी।

– राजेश नागर