सेना से मुठभेड़ में 13 आंतकी ढेर


पिछले कुछ दिनों से कश्मीर में आतंकी गतिविधियाँ काफी बढ़ गई है | उत्तरी कश्मीर में बारामूला जिले के उरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षा बलों ने संदिग घुसपैठ करने वालो की कोशिश को नाकाम किया तथा इस घुसपैठ के दौरान हुयी मुठभेड़ में छह आतंकवादी भी मारे गये। पिछले कुछ हफ्ते से सीमापार से घुसपैठ की कोशिश लगातार बढ़ रही है। जिसे देख भारतीय सेना के जवान भी लगातार अपनी हुशियारी के दम पर उनके आतंकी मनसूबों को नाकाम करते नजर आ रहे हैं।

 

 

उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास गत बुधवार से सेना ने चार घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम किया है और इस दौरान 13 आतंकवादी मारे गये हैं। पहले सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो आतंकी मार गिराए लेकिन शाम होते-होते चार और आतंकवादी को भारतीय जवानों की गोली का निशाना बनना पड़ा । आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में गुरुवार को सेना का एक जवान शहीद हो गया तथा दो अन्य घायल हो गये। उडी और आस पास के इलाको में अब भी सेना का सर्च आपरेशन जारी है। सूत्रों की माने तो बारिश और धुंध का फायदा उठाकर स्वचालित हथियारों से लैस आतंकियों का एक दल उड़ी सेक्टर में गुहाल्टा टाप इलाके में किसी तरह घुसपैठ में कामयाब रहा। इसका पता चलते ही सेना के जवानों ने उन्हें मार गिराने के लिए एक तलाशी अभियान छेड़ दिया। इस अभियान में ड्रोन की मदद भी ली गई, लेकिन खराब मौसम के चलते वह ज्यादा कारगर नहीं हो पाया। इसके बाद सेना ने पैरा कमांडो का एक दस्ता भी इस अभियान में उतारा। दोपहर बाद सेना के जवानों ने घुसपैठियों को घेर लिया और उसके बाद शुरू हुई मुठभेड़ शाम साढ़े चार बजे तक जारी रही। इस दौरान दो आतंकी मारे गए

आर्मी  तलाशी करते  हुए आगे बढ़ रही  थी तो पेड़ों व चट्टानों की ओट में छिपे आतंकियों ने उन पर गोली चला दी। जवानों ने भी जवाबी फायर किया और कुछ ही देर में तीन आतंकियों को ढेर कर दिया। इस दौरान कुछ आतंकियों को वापस गुलाम कश्मीर की तरफ भागते देख जवानों ने उनका पीछा किया।  कुपवाड़ा और बारामूला जिले में नियंत्रण रेखा के निकट घने जंगलों में सुरक्षाकर्मियों ने खोज अभियान तेज कर दिया है। तड़के ही सुरक्षा बलों ने उत्तरी कश्मीर के नौगाम, कुपवाड़ा के माचिल सेक्टर और बारामूला जिले के उड़ी में खोज अभियान शुरू कर दिया। सुरक्षा बल किसी तरह की हानि से बचने के लिए रात में अपना अभियान बंद कर दे रहे हैं। जवानों ने हालांकि पूरे जंगली इलाके को घेर लिया है जिससे आतंकवादी भागने में कामयाब न हो सकें। ऐसी रिपोर्ट है कि सीमा पार बड़ी संख्या में आतंकवादी घुसपैठ की ताक में हैं।

 

 

आधिकारिक सूत्रों बताया कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से उरी सेक्टर में कल शाम आतंकवादियों का एक समूह घुसपैठ की कोशिश कर रहा था। सुरक्षा बलों ने संदिग्ध हलचल देखकर आत्मसमर्पण के लिए कहा लेकिन आतंकवादियों ने स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में शुरू में दो आतंकवादी मारे गये। आतंकियो ने देर रात शुक्रवार को पुलवामा जिला पुलिस लाइन पर ग्रेनेड से भी हमला किया, लेकिन इससे कोई नुकसान नहीं हुआ। हमले के बाद आतंकी भाग निकले। सुरक्षाबलों ने आतंकियों की तलाश शुरू कर दी है। उधर, अनंतनाग जिले के पहलगाम में भी देर शाम सुरक्षाबलों ने आतंकियों की तलाश में अभियान चलाया।

 

उसके बाद सुरक्षा बलों ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। उन्होंने कहा कि तलाशी अभियान के दौरान दोबारा मुठभेड़ शुरू हुआ जिसमें तीन आतंकवादी मारे गये तथा एक अन्य आतंकवादी देर शाम मारा गया। सूत्रों ने बताया कि इलाके में तलाशी अभियान अब भी जारी है। रिपोर्ट के अनुसार इस वर्ष अब तक पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से घुसपैठ की 22 घटनाएं हुई हैं। इनमें 34 आतंकवादी मारे गये। पिछले वर्ष घुसपैठ की 88 घटनाएं हुई थीं जबकि वर्ष 2015 में मात्र 28 घटनाएं हुई थीं।