शोपियां एनकाउंटर में शहीद हुए सैनिक वामन और इलियाराजा को आर्मी ने दी श्रद्धांजलि


जम्मू कश्मीर के शोपियां में रविवार को एक बार फिर आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में सेना ने अपने दो बहादुर जवानों को खो दिया। इन बहादुर जवानों को श्रीनगर के बादामी बैग कैंट में लेफ्टिनेंट जनरल जेएस संधू, चिनार कोर के कमांडर और सभी रैंक्स की ओर से श्रद्धांजलि दी गई।

राज्य सरकार के अधिकारियों, सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों और राज्य सरकार के प्रतिनिधियों की ओर से भी इन बहादुरों को श्रद्धांजलि दी गई। शोपियां में जो दो जवान शहीद हुए हैं उनके नाम सिपाही गावई सुमेध वामन और सिपाही इलियाराजी पी हैं। दोनों की उम्र 25 वर्ष थी। सिपाही वामन वर्ष 2011 में सेना में शामिल हुए थे।

महाराष्ट्र के अकोला गांव के रहने वाले सिपाही वामन के घर में उनके माता-पिता के अलावा एक भाई और एक बहन है। वहीं सिपाही इलियाराजा तमिलनाडु के शिवागंगी जिले के कनडानी गांव के रहने वाले थे। वर्ष 2012 में वह सेना का हिस्सा बने। उनके घर में उनके माता-पिता के अलावा उनकी पत्नी और एक बहन है। दोनों जवानों को श्रद्धांजलि देने के बाद इनके शवों को गृहनगर भेजा गया। यहां इनका पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जायगा।