क्या हत्याओं और बैंक लूटने से सुलझ जायेगा कश्मीर मुद्दा : महबूबा ने सवाल किया


mehboba mufti

श्रीनगर  : जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने आज कुलगाम निवासी युवा सैन्य अधिकारी लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की आतंकवादियों द्वारा हत्या किये जाने की निंदा करते हुए सवाल किया कि क्या हत्या करने और बैंक लूटने से सारा समाधान निकल आयेगा।
महबूबा ने कहा कि ”सबसे दुर्भाज्ञ” की बात यह है कि जो लोग ”कश्मीर मुद्दे पर रो रहे हैं” वही कश्मीरियों की हत्या कर रहे हैं ”खास तौर से हमारे युवाओं की जो सामान्य पृष्ठभूमि से आते हैं और जीवन में सफल होना चाहते हैं, बिल्कुल शहीद फैयाज की तरह।” संवाददाताओं से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि फैयाज महज 22 साल की छोटी आयु में सेना में अफसर बन गये और ”कुछ ही सेकेंड में उनकी क्रूरता से हत्या कर दी गयी।” उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं राज्य के लोगों के लिए ”आत्मविश्लेषण का क्षण हैं”, यह देखने का वक्त है कि क्या कश्मीर मुद्दे का हल लोगों की हत्याओं और बैंक लूटने में है।

महबूबा ने कहा, ”पहले भी पुलिसकर्मियों और बैंक अधिकारियों की हत्यायें हुई हैं। ऐसे में मुझे लगता है कि यह जम्मू-कश्मीर के लोगों, विशेष रूप से घाटी के लोगों.. जो कश्मीर मुद्दे को लेकर रोते रहते हैं..। के लिए आत्मविश्लेषण का क्षण है..। क्या इस मुद्दे का समाधान बैंकों और हथियारों की लूट में तथा हमारे युवाओं की क्रूरता से हत्या करने में है.। जो कुछ बन गये हैं या शिक्षा प्राप्त कर कुछ बनना चाहते हैं।” इससे पहले एक बयान में महबूबा ने लेफ्टिनेंट फैयाज की हत्या की निंदा करते हुए कहा था, ”यह ज्यादा दुखदायी है कि युवा अधिकारी छुट्टियों पर अपने घर आये थे और अपने रिश्तेदार की शादी में शामिल हो रहे थे।” मुख्यमंत्री ने लेफ्टिनेंट फैयाज के परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुये उनकी आत्मा की शांति के लिये प्रार्थना की। अधिकारी का आतंकवादियों ने बीती रात उनके रिश्तेदार के घर से अपहरण कर लिया था और आज सुबह उनका गोलियों से छलनी शव मिला।

(भाषा)