अलगाववादियों की हड़ताल से घाटी में जनजीवन प्रभावित


kashmir ghati

श्रीनगर : आज कश्मीरी घाटी में अलगाववादियों की हड़ताल से पुरे कश्मीर घाटी में जनजीवन अस्त वस्त हो गया है  अलगाववादी ये हड़ताल एक कश्मीरी युवक की हत्या के विरोध में कर रहे है। अलगाववादियों की ओर से बुलाई गई हड़ताल और प्रशासन द्वारा लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाये जाने से आज घाटी के अनेक स्थानों का जनजीवन प्रभावित रहा।

अधिकारियों के कहना है कि पूरी कश्मीरी घाटी के कई स्थानों में व्यापारिक प्रतिष्ठान और दुकानों के साथ विद्यालय एवं कॉलेज और बंद रहे। नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी ( NIA ) की हालिया छापेमारी, और मंगलवार को गंगापोरा शोपियां में सेना और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़प के दौरान 19 साल का आदिल फारऊख नाम के युवक की मौत के बाद अलगाववादियों ने हड़ताल की है ।

वहां अलगाववादियों ने हड़ताल के हालत देखते हुए प्रशासन ने कानून व्यवस्था बरकरार रखने के लिये श्रीनगर और शोपियां जिले के कस्बे के कुछ हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया। हुर्रियत कांफ्रेंस के दोनों धड़ों के चेयरमैन, सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारुख और JKLF चीफ यासीन मलिक ने दक्षिणी कश्मीर में लोगों से झड़प में मारे गये युवक के घर की ओर पहुंचने की अपील की थी।

प्रशासन ने कानून व्यवस्था बरकरार रखने के लिये श्रीनगर के 7 पुलिस थाना क्षेत्र – खानयार, एमआर गंज, सफाकादल, रानीवाड़ी,क्रालखुड, नौहट्टा और मैसुमा में रोक लगा रखी हैं। अधिकारियों ने ये भी कहना है कि दक्षिणी कश्मीर के शोपियां कस्बे के अलावा, मध्य कश्मीर के गंदेरबल जिले में धारा 144 लगा दी गई है, जबकि यहां लोगों के एकत्रित होने पर रोक लगाया गया है। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में भारी मात्रा में सेना तैनात किये गये हैं।

हालांकि इलाके की ज्यादातर दुकानें, पेट्रोल पंप और अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे, हालांकि इसके लिये रोक नहीं लगाया गया था। सड़कों से सार्वजनिक वाहन भी नहीं देखे गए । प्रशासन ने कश्मीर घाटी के सभी विद्यालयों, सीनियर सेकेंडरी विद्यालय और कॉलेज बंद करवा दिये हैं। कश्मीर यूनिवर्सिटी की प्रस्तावित परीक्षायें भी टाल दिया गया है ।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.