गुमशुदा बच्चों से भीख मंगवाने पर पांच वर्ष का कारावास


विदिशा: रायसेन जिले में गुमशुदा बालकों की तलाश के लिए पुलिस विभाग, महिला सशक्तिकरण, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा चाइल्ड हेल्प लाइन 1098 द्वारा संयुक्त रूप से 31 जुलाई तक आपरेशन मुस्कार 111 का संचालन किया जा रहा है। जिला स्तर पर पुलिस विभाग, महिला सशक्तिकरण एवं चाइल्ड हेल्पलाइन की एक संयुक्त दल का गठन किया गया है।  गठित दल द्वारा अभियान का संचालन जिले के ढाबों एवं दुकानों सहित विभिन्न स्थानों पर कार्य करने वाले बच्चे, भीख मांगने वाले बच्चों एवं गुमशुदा बच्चों के लिए संयुक्त अभियान आपरेशन मुस्कान संचालित किया जा रहा है। जिसमें बच्चों के पालको को समझाइश दी जा रही है की वे बच्चों से बालश्रम एवं भिक्षावृत्ति न करवाएं, नहीं तो उनके विरुद्ध किशोर न्याय अभियान के अंतर्गत कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

इसी प्रकार अगर कोई व्यक्ति पर परिवार बच्चों से भीख मंगवाता हैै तो उसे 5 वर्ष तक के कारावास एवं एक लाख रुपए के जुर्माने से दंडित किया जाएगा।  जिले में मुस्कान 111 के तहत लगभग 64 बच्चे चिन्हित किए गए हैैं जो कि अलग-अलग स्थानों पर भीख मांगते हुए ,बालश्रम करते हुए एवं अन्य गतिविधियों में लिप्त पाए गए। जिनके परिवार के सदस्यों को टीम द्वारा सख्त निर्देश दिए गए हैैं कि वे बच्चों से बालश्रम एवं भिक्षावृत्ति जैसे कार्य नहीं करवाएं, अन्यथा आपके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

वर्तमान समय में जिले में 90 बालक, बालिकाएं गुमशुदा दर्ज हैं, जिनमें से अभियान संचालन के समय 10 बालकों को तलाश कर लिया गया है एवं अन्य शेष गुमशुदा बालक ,बालिकाओं की तलाश जारी है।