पुलिस ने पकड़ा देह व्यापार का अड्डा


शिवपुरी : अभी तो पुलिस महल कॉलोनी में मिले सैक्स रैकेट का पर्दाफाश करने में व्यस्त ही थी कि तभी पुलिस के हत्थे एक और देह व्यापार का घिनौना खेल हत्थे चढ़ गया। रात के अंधेरे में हो रहे इस अनैतिक देह व्यापार को एक निजी कंपनी के कार्यालय में अंजाम दिया जा रहा था जहां पुलिस को सूचना मिली तो पुलिस ने अपनी टीम के साथ दबिश दी और मौके से दो युवक व दो महिलाओं को आपत्तिजनक अवस्था में पकड़ा। बताया गया है कि पुलिस को काफी दिनों से यहां देह व्यापार की सूचना मिल रही थी लेकिन पुलिस पिन प्वाईन्ट सूचना की तलाश में थी आखिरकार पुलिस का मुखबिर तंत्र सक्रिय हुआ और उसने इस अनैतिक देह व्यापार को पकड़वा दिया।

पुलिस ने पकड़ी गर्ई महिलाओं के पास कर्ई आपत्तिजनक वस्तुओं के साथ 600 रुपए बरामद किए हैं। पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ देह व्यापार अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्वालियर वायपास पर स्थित रमेशचन्द्र गुप्ता के मकान में संचालित ईकॉम एक्सप्रेस कंपनी के कार्यालय में पिछले लम्बे समय से अनैतिक व्यापार संचालित होने की सूचनायें पुलिस को प्राप्त हो रहीं थी। बीती रात्रि लगभग 3 बजे पुलिस को कार्यालय में देहव्यापार संचालित होने की सूचना मिली। जिस पर पुलिस ने मकान को चारों ओर से घेर कर दबिश दी।

जहां मकान की दूसरी मंजिल पर तुलसी नगर में निवासरत रविन्द्र पुत्र वासुदेव प्रसाद शर्र्मा और प्रवीण पुत्र लेखराम सिंह कौरव निवासी कुंजबिहारी कॉलोनी ग्वालियर अलग-अलग कमरे में दो महिलाओं सकीला बानो और रामबार्ई आदिवासी (परिवर्तित नाम) निवासीगण बैराड़ क्षेत्र के साथ रंगरेलियां मना रहे थे। पुलिस ने दोनों कमरों में छापामार कर चारों को नग्न हालत में गिरफ्तार कर लिया। बताया जाता है कि पकड़े गए युवक कंपनी के कर्मचारी हैं जो बाहर से महिलाओं को लाकर उनके साथ अनैतिक कार्र्य करते हैं। साथ ही वह पकड़ी गर्ई महिलाओं के साथ मिलकर जिस्म फरोसी का काम कराते हैं। पुलिस ने पकड़ी गई महिलाओं व युवकों से पूछताछ शुरू कर दी है वहीं पकड़े गए देह व्यापार के इन आरोपियों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मामला पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में ले लिया है।