जांच में खुलासा: गोमांस ही ले जा रहा था बीजेपी नेता


छिंदवाड़ा/नागपुर : जिले के काटोल के समीप भारसिंगी में बीजेपी नेता की स्कूटी में मिला मांस, गोमांस ही था। फॉरेंसिक लैब की जांच रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है। ग्रामीण एसपी शैलेंद्र बालकवडे का कहना है कि अब इस मसले पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इधर आरोपी सलीम इस्माइल शाह को पार्टी से निलम्बित भी कर दिया है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों नागपुर जिले के नरखेड़ तहसील के भारसिंगी गांव में गोमांस ले जाने के शक में एक अनाज व्यापारी को बेरहमी से पीटा गया था। पुलिस ने इस मामले में छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। वहीं चार आरोपी गिरफ्तार किए गए थे। मारपीट के बाद सलीम इस्माइल का आरोप था कि वहां खड़ी भीड़ भी पिटाई का वीडियो बनाती रही, लेकिन उसे बचाने की किसी ने कोशिश नहीं की। इधर मौके पर मिले मांस को जांच के लिए रीजनल फॉरेंसिक लैब भेजा गया था। लैब की जांच रिपोर्ट के अनुसार वह गोमांस ही था। आला अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है।

पुलिस के मुताबिक सलीम इस्माइल काटोल का रहने वाला है। वह अपनी स्कूटी में मटन लेकर मध्यप्रदेश से काटोल जा रहा था। वह जैसे ही दोनों राज्यों के बॉर्डर पर स्थित भारसिंगी गांव से गुजरा उसे छह लोगों ने रोक लिया था। आरोपियों ने इस्माइल की स्कूटी के अंदर रखे मीट को देख उसके दस्तावेज मांगे थे। इस्माइल का कहना है कि दस्तावेज दिखाए, लेकिन उन्होंने इसे फर्जी कहते हुए उसे लात-घूंसों और चप्पलों से पीटना शुरू कर दिया। गालियां दीं और घायल हालत में वहीं छोड़कर चले गए। इस्माइल एक बीजेपी कार्यकर्ता है। होश आने पर वह खुद घायल हालत में नागपुर पहुंचा और आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। इधर लैब रिपोर्ट आने के बाद सलीम की गिरफ्तारी भी जल्द हो सकती है।

क्या था मामला

बीते बुधवार सलीम शाह अपने स्कूटर पर 15 किलो बीफ ले जा रहे थे। गोरक्षकों को इसकी भनक लगी और फिर उन्होंने शाह की जमकर पिटाई कर दी। गोरक्षकों की शिकायत पर पुलिस ने सलीम के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था। वहीं क्रॉस FIR के बाद पुलिस ने इस केस में चार लोगों को भी गिरफ्तार किया था। हमले का एक आरोपी निर्दलीय विधायक बच्चू काडू द्वारा चलाई जा रही संस्था का तहसील अध्यक्ष बताया जा रहा है।

गोरक्षकों के आगे एसपी की चेतावनी बेअसर

इस घटना के बाद नागपुर देहात के एसपी शैलेश बालकावड़े ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने और सांप्रदायिक हिंसा भड़काने के संबंध में चेतावनी जारी की थी। हालांकि उनकी इस चेतावनी से शाह की पिटाई करने वाले गोरक्षकों पर कोई असर नहीं पड़ा. वह इस घटना का वीडियो वॉट्सएप पर शेयर कर रहे हैं। शाह के पास बरामद मीट की पुष्टि होने के बाद एसपी ने कहा, ‘बीफ रखने वालों को एक साल की कैद और जुर्माने का प्रावधान है।’