महाराष्ट्र सरकार एंव किसान नेताओं की समिति में फूट


मुंबई: महाराष्ट्र में आंदोलनरत किसानों के नेताओं की संचालन समिति में फूट पड़ती प्रतीत हो रही है क्योंकि समिति के कुछ सदस्यों ने उच्च शक्तिप्राप्त मंत्रिसमूह के साथ बैठक में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया। इक्कीस सदस्यों वाली समिति का गठन पांच दिन पहले हुआ था और आज यह मुंबई में मंत्रियों से मुलाकात करने वाली है। इसके प्रमुख सदस्यों में भाजपा के सहयोगी सांसद राजू शेट्टी, गिरिधर पाटिल, रामचंद्रबापू पाटिल, अनिल घनवट, रघुनाथ पाटिल, अजित नवले, विधायक बच्चू कड़ू और डॉ. बुधाजीराव मुलीक शामिल हैं।

बहरहाल, गिरिधर पाटिल, रामचंद्रबापू पाटिल, अनिल घनवट और डॉ. मुलीक ने आज की बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। गिरिधर पाटिल ने कहा, ”संचालन समिति ने अब तक किसानों की वास्तविक मांगों और किस तरह वे इन्हें लेकर सरकार से मिलेंगे, इन बातों पर फैसला नहीं किया है।

इन चीजों को अंतिम रूप दिये जाने से पहले मैंने सरकार के प्रतिनिधियों से बैठक के विचार का विरोध किया था।” उन्होंने आरोप लगाया कि संचालन समिति के कुछ सदस्यों ने अन्य सदस्यों से बिना परामर्श किये किसानों के मुद्दे पर अनशन की घोषणा की थी।