निर्भया के भाई को एक विधवा के साथ रेप और गहने चोरी के आरोप में किया गया गिरफ्तार


रिपोर्ट चंडीगढ़: मई में हरियाणा के रोहतक में तीन लोगों द्वारा सोनीपत की एक महिला का रेप करके हत्या कर दी गयी थी। जिसे बाद में रोहतक की निर्भया कहा गया था। अब उसी महिला के भाई पर एक विधवा के साथ बलात्कार और उसके गहने चोरी करने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

रेप पीडिता महिला तीन बच्चों की माँ है और उसे निर्भया के परिवार का करीबी माना जा रहा है। महिला के बयान के अनुसार पिछले हफ्ते आरोपी शराब के नशे में महिला के घर पहुंचा और इस वारदात को अंजाम दिया। महिला की उम्र तकरीबन 40 वर्ष बतायी जा रही है और वो अकेली रहती है। महिला का लड़का एक हत्याकांड के केस में जेल में है और उसकी दोनों बेटियों की शादी हो चुकी है ।

सोनीपत के पुलिस अधीक्षक अश्विन शेनवी ने कहा, “अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है क्योंकि हम तथ्यों की पुष्टि कर रहे हैं। चूंकि पीडिता और आरोपी एक-दूसरे के जानकार हैं, हम सावधानी से चल रहे हैं। हम सभी विवरण एकत्र करने के बाद कार्रवाई करेंगे।”

इस बीच, रोहतक निर्भया मामले की जांच में एसआईटी ने सुमित कुमार, विकास और एक सहयोगी के खिलाफ स्थानीय अदालत में बलात्कार, हत्या और सबूतों के विनाश के लिए आरोपपत्र दाखिल किया।

9 मई को निर्भया सोनिपत से गायब हो गयी थी । 11 मई को रोहतक के औद्योगिक मॉडल टाउनशिप के खुले मैदानों में उसे मृत शरीर मिला था। सुमित और विकास दोनों को सोनीपत से उठाया गया था, क्योंकि उन्हें पीड़ित के साथ आखिरी बार देखा गया था।

एसआईटी  ने आरोप लगाया है ,उन्होंने न केवल कथित रूप से अपहरण कर लिया और 23 साल के तलाकशुदा के साथ बार-बार बलात्कार किया, फिर बलात्कार करने के बाद उसके निजी अंगों में एक धारदार हथियार डाला। पुलिस ने आरोपपत्र में कहा कि तीनों ने एक ईंट के साथ उसके सिर को तोड़ दिया जिससे उसे पहचानना मुश्किल हो गया।