शहीद के परिवार को 75 लाख का चेक


शिलांग, (वार्ता): नागालैंड के मोन जिले में पिछले माह उल्फा उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर डेविड मनलून के परिवार को सेना ने सेवांत हितलाभ के तहत आज 75 लाख रुपये का चेक दिया। लेफ्टिनेंट जनरल डी.एस आहूजा ने बताया कि मेजर मनलून के परिवार को अनुग्रह राशि के तौर पर लगभग 40-50 लाख रुपए मिलेंगे, जिसमें केन्द्र सरकार की तरफ से मिलने वाला अनुग्रह राशि और मेघालय सरकार की तरफ से मिलने वाले 7.5 लाख रुपए शामिल हैं।

32 वर्षीय मेजर मनलून को शौर्य और साहस का प्रतीक बताते हुए। ले. जनरल आहूजा ने कहा कि वह उनकी शहादत को सलाम करते हैं। प्रादेशिक सेना के 164वें ब्रिगेड के अधिकारी के तौर पर उन्होंने नागालैंड में उग्रवादियों के खिलाफ कार्रवाई में अदम्य साहस दिखाते हुए वह शहीद हुए। इस मौके पर मेजर डेविड की मां मान्नुअम निअंग ने कहा, ‘मेरे बेटे ने जो किया अगर हम उसका अनुसरण करेंगे तो पूरे देश में शांति होगी। मेरा बेटा एक हीरो की तरह शहीद हुआ है और मुझे उसकी शहादत पर फख्र है।’

उल्लेखनीय है कि छह जून को उल्फा उग्रवादियों ने घात लगाकर गश्त पर निकले सेना की टीम पर हमला कर दिया जिसके बाद दोनों ओर से गोलीबारी शुरू हो गयी। मेजर डेविड सेना की टीम का नेतृत्व कर रहे थे। शहीद होने से पहले उनकी टीम के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये थे। सेना ने एके -56 राइफल और एके सीरीज की दो चीनी राइफलें, दो ग्रेनेड, तीन आईईडी, गोला-बारूद और एके-सीरीज के बंदूक के 270 कारतूस बरामद किए थे।