अपराध रोकना मेरी पहली प्राथमिकता : महापात्र


जौनपुर : उत्तर प्रदेश के वाराणसी जोन के अपर महानिदेशक (एडीजी) बिश्वजीत महापात्र ने कहा की अपराथ को रोकना उनकी पहेली प्राथमिकता है। पात्र ने कहा की थानों के कार्य करने में बदलाव लाया जायेगा जिससे की थानों में सही तरके से काम किया जा सके । श्री पात्र ने कहा की पुलिसकर्मियों को काम सही से न करने पर दंड भी दिए जायेंगे और जो अपने काम के प्रति निष्ठावान है उन्हें समानित किया जायेगा ।

उन्होंने कहा की थानों के कार्य में सकारात्मक बदलाव किये जायेंगे जिससे महत्वपूर्ण मुद्दों को अच्छे से ध्यान दिया जायेगा और किसी भी प्रकार की ढीलापन सहन नहीं किया जायेगा । उन्होंने कहा की पुलिस को आम लोगों के प्रति अपना स्वभाव अच्छा रखना होगा जिससे आम लोग हम पर विश्वास कर सकेंगे ।  मुकदमों में हाईटेक और वैज्ञानिक पद्धतियों का प्रयोक किया जायेगा जिससे विवचना की गुणवत्ता बरकरार रहे और बेकसूर को न्यायालय में न्याय दिलाया जा सके ।

कोई भी ठाणे में एफ आई आर लिखने में ढील करि उस पर करवाई की जाएगी । अब थानों में पोस्टिंग उनके मेरिट से की जाएगी न की किसी की भी सिफारिश से और अपर महानिदेशक ने यह भी कहा की अगर किसी भी अपराथ में अपारथी के साथ मिल कर पुलिसकर्मी ने सबूतों के साथ छेड़खानी की तो उसे भी माफ़ नहीं किया जायेगा और उस पर भी मुकदमा चलेगा ।

श्री महापात्र ने कहा कि नक्सली जिलों और उनकी गतिविधियों के बारे में जल्द ही वह उन जिलों का दौरा कर जो भी आवश्यक दिशा निर्देश है जारी करेंगे। मीडिया और जनता का सहयोग लेकर संवेदनशील मुद्दों को सुलझाने का ईमानदारी से पूरा प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि पुलिस की छवि कट्टर प्रशासक की जगह मित्रतापूर्ण हो ऐसा प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि वाराणसी जोन के सभी दस जिलों वाराणसी, चंदौली, सोनभद्र, मित्रतापूर्ण, भदोही, जौनपुर,गाजीपुर, बलिया, मऊ और आजमगढ़ में शीघ्र ही एन्टी भूमाफिया सेल का गठन किया जाएगा और उनकी सूची तैयार कर कडी कार्रवाई की जाएगी ।

–  (वार्ता)