कांग्रेस राज में 150 किसान कर चुके हैं आत्महत्या


चंडीगढ़ : आम आदमी पार्टी पंजाब के अध्यक्ष और सांसद भगवंत मान, पंजाब विधान सभा में विपक्ष के नेता सुखपाल सिंह खैहरा और उपाध्यक्ष और विधायक अमन अरोड़ा के नेतृत्व में पंजाब भवन में हुई सभी विधायकों की मीटिंग में कांग्रेस की कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार पर वायदों से भागने और जन विरोधी फ़ैसले लेने का आरोप लगाया।

इस मीटिंग में लोक इन्साफ पार्टी के विधायक सिमरजीत सिंह बेस और बलविन्दर सिंह बेस भी उपस्थित थे। मीटिंग में कई राज स्तरीय गतिविधियों का ऐलान करते हुए बताया कि पार्टी 27 जुलाई को सुनाम में शहीद उधम सिंह के शहीदी दिवस पर खूनदान कैंप का आयोजन किया जायेगा, जिस में पार्टी की समूची लीडरशिप शिरकत करेगी, यहाँ से ही मान और खैहरा के नेतृत्व में समूह लीडरशिप तख़त श्री दमदमा साहब तलवंडी साबो और बठिंडा के ऐतिहासिक मंदिर माईसर ख़ाना में नतमस्तक होगी।

भगवंत मान और खैहरा ने अमरिन्दर सिंह पर बादलों के साथ मिले होने का आरोप लगाते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी विरोधी पक्ष की जि़म्मेदारी निभाते हुए पंजाब को मिलकर लूट रहे इनके राजनैतिक गठबंधन को जनता में जा कर बेनकाब करेगी और कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार की तरफ से पंजाब की जनता पर नये टैक्सों के द्वारा और वित्तीय बोझ डालने के लिए घड़े जा रहे मंसूबों को लागू नहीं होने देगी। बेशक इस लिए पार्टी सड़क से ले कर विधान सभा और पार्लियामेंट सदन तक कितना भी संघर्ष क्यों न करना पड़े। कैप्टन अमरिन्दर सिंह किसानों के कजऱ्े माफ करने और घर घर सरकारी नौकरी देने के वायदों से भाग रहे हैं। कैप्टन सरकार की इस वायदा खिलाफी करके कांग्रेस सरकार के दौरान 150 किसान और खेत मज़दूर आत्म हत्या कर चुके हैं।

– अनूप कुमार