शिरोमणि कमेटी के मुख्य सचिव सरदार हरचरण सिंह द्वारा इस्तीफा


लुधियाना-अमृतसर : शिरोमणि कमेटी के मुख्य सचिव स. हरचरण सिंह द्वारा अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसकी पुष्टि हरचरण सिंह द्वारा स्वयं ही की गई है। उन्होंने अपना इस्तीफा आज फतेहगढ़ साहिब में हुई शिरोमणि कमेटी की कार्यकारिणी की बैठक के दौरान दिया। जानकारी अनुसार उन्हें पहले अपने पद पर बने रहने की हिदायतें दी गई थी परंतु उन्होंने अपने पक्ष पर अड़े रहने पश्चात शिरोमणि कमेटी प्रधान और कार्यकारिणी के सदस्यों ने इस्तीफा मंजूर कर लिया।

उल्लेखनीय है कि स. हरचरण सिंह की समय अवधि अब 31 जुलाई तक पद पर बने रहने रहेंगे। समझा जा रहा है कि स. हरचरण सिंह ने शिरोमणि अकाली दल की उच्च लीडरशिप के इशारे उपरांत अपना इस्तीफा दिया है क्योंकि शिरोमणि कमेटी के पदाधिकारियों का एक मजबूत धड़ा उनके काम करने के तरीकों को पसंद नहीं कर रहा था। मई 2015 में उन्हें इस पद के लिए सिर आंखों पर बिठाकर नियुक्त किया गया था। स. हरचरण सिंह शिरोमणि कमेटी के प्रथम मुख्स सचिव बने थे। दरअसल शिरोमणि कमेटी में उनको इस जिम्मेदारी सौंपने के लिए इस पद का अस्तित्व तैयार किया गया था।

बैंक के उच्च अधिकारी के तौर पर सेवानिवृत्त हुए स. हरचरण सिंह को पहले उच्च अकाली लीडरशिप के इशारे पर ही नई जिम्मेदारी वाला ओहदा तैयार करके तीन लाख रूपए प्रति माह की तनख्वाह पर नियुक्त किया गया था। हालांकि सिख पंथ में इस नियुक्ति और गुरू घर की गोलक पर डाका डालने के संज्ञान पर विरोधियों ने खूब रगड़ाई की। इसके बावजूद उच्च लीडरशिप की दृढ़ता के कारण वह अपनी जिम्मेदारी पर डटे रहे थे।

– सुनीलराय कामरेड