लखेरा हत्याकांड का आरोपी गिरफ्तार


arrests

राजस्थान पुलिस ने राजधानी जयपुर के बहुचर्चित लेखरा हत्याकांड के अभियुक्त केसर सिंह को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से एक लाख रूपये जब्त किये है।

पुलिस उपायुक्त पश्चिम अशोक कुमार गुप्ता ने आज यहां बताया कि अभियुक्त को कोटा के बाराखेडी के पास एक मकान से गिरफ्तार कर लिया और उसकी तलाशी लेने पर उसके पास से एक लाख रूपये बरामद हुए है।

उन्होंने बताया कि पुलिस पूछताछ में आरोपी ने आपसी लेनदेन को लेकर 28 अप्रैल को सुनील लखेरा की गोली मारकर हत्या करने का अपराध स्वीकार किया है। उन्होंने बताया कि पूछताछ में यह भी पता चला कि केसर सिंह कोटा के नामी गैंगस्टर भानु प्रताप ङ्क्षसह का मुख्य गुर्गा था जो भानु प्रताप की हत्या के बाद उसकी गैंग को ऑपरेट करने का मुख्य कार्य भी कर रहा था।

उन्होंने बताया कि केसर सिंह फिलहाल कोटा में रहकर दो गैंगो भानुप्रताप गैंग के बीच पूर्व में चल रही रंजिशवश एक गैंग का सरगना बनकर दूसरी गैंग के सदस्य की हत्या करने की योजना के फलस्वरूप एक लाख रूपए एडवांस लेकर बोरखेडा बारां रोड कोटा स्थित फार्म हाउस में रहकर विपरीत गैंग के सदस्य की रैकी वगेराह भी कर चुका था और चोरी का वाहन उठाकर उसका उपयोग कर कभी भी दूसरे गैंग के सदस्य की हत्या करने की फिराक में था।

गैंगस्टर भानुप्रताप की बिजोलिया में हुई हत्या के मुकदमें में अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में बंद शिवराज सिंह कोटा गैंग से इन लोगो की आपस में रंजिश चल रही थी। इस कारण केसर सिंह व उसकी गैंग के सदस्य शिवराज सिंह गैंग के किसी सदस्य की हत्या करने की फिराक में थे। इस कार्य हेतु वह रूपये पैसों एवं और हथियारों की व्यवस्था में लगे हुये थे। उन्होंने बताया कि अपराध करने के बाद अभियुक्त जयपुर, खानपुर, लखनऊ, नेपाल और भीलवाडा रहने के बाद काफी समय से कोटा के बाराखेडी में रह रहा था।