उप्र. में ठंड ने आम आदमी का किया जीवन मुश्किल


rajasthan Weather

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में पड़ रही जानलेवा ठंड की वजह से आम आदमी का जीवन दूभर हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटे में राज्य का मुजफ्फरनगर जिला सबसे ठंडा रहा,जहां पारा 3़ 6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। ठंड और कोहराजनित हादसों की वजह से इस मौसम में अब तक 160 से अधिक लोगों की मृत्यु की सूचना है। हालांकि, सम्बन्धित जिलों के अधिकारियों का कहना है कि ठंड से किसी की मृत्यु नहीं हुई है। मौसम विभाग ने बताया कि लखीमपुर-खीरी में न्यूनतम तापमान 5़ 2 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 9़ 8 रहा जो सामान्य से 11 डिग्री सेल्सियस कम है। गोरखपुर में न्यूनतम तापमान 6़ 8 डिग्री सेल्सियस मापा गया। वहां का अधिकतम तापमान 10़ 4 था जो सामान्य से 11 डिग्री कम है। बहराइच में पांच डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 10़ 5 रहा जो सामान्य से 10 डिग्री कम है। लखनऊ में भी पारा 5़ 6 तक पहुंच गया जो सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस कम है।

फैजाबाद से मिली रिपोर्ट के अनुसार वहां ठंड लगने से तीन लोगों की मृत्यु हो गई। बीकापुर क्षेत्र के दशरथपुर निवासी साठ वर्षीय रामलाल, कैंट क्षेत्र के मुरावन टोला निवासी पचास वर्षीय प्रेम कुमार मौर्य और इनायतनगर क्षेत्र के खिहारन निवासी सत्तर वर्षीय जियालाल की ठंड लगने से मृत्यु हो गयी। बस्ती से मिली सूचना के अनुसार बस्ती मंडल के तीनों जिलों बस्ती, सिद्धार्थनगर, संतकबीरनगर में पड़ रही कड़के की ठंड से नागरिक बेहद परेशान हैं। ठंड से पिछले 24 घंटे में तीन लोगों की मृत्यु हो गयी। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि गरीब और असहाय व्यक्तियों के लिए बस्ती में दो हजार, सिद्धार्थनगर में 2500 और संतकबीरनगर में 1500 कम्बल बांटे गये हैं। कड़के की ठंड और शीतलहर के चलते पिछले 24 घंटे के भीतर बस्ती में तीन व्यक्तियों की ठंड लगने से मृत्यु हो गई है। जिले के हरैया क्षेत्र के बिजोरा गांव में सूर्यपता (58), गंगापुर निवासी सीतापति (45) और छावनी क्षेत्र के मलौली गोसाई निवासी राजकुमार (50) की ठंड लगने से मृत्यु हो गई है।

ठंड के कारण रोजगार पर बुरा असर पड़ है। मजदूर और रिक्शा चलाकर जीवन यापन करने वाले लोग काफी परेशान हैं। खराब मौसम के चलते फसलों को भी नुकसान पहुंच रहा है। मौसम-ठंड उप, दो अंतिम लखनऊ सुलतानपुर से मिली रिपोर्ट के अनुसार सुल्तानपुर में ठंड का कहर जारी है। ठंड की वजह से बाजारों में सन्नाटा छाया हुआ है। साल की शुरुआत से अब तक स्कूल तथा कालेज बंद चल रहे हैं। आचार्य नरेन्द्रदेव कृषि विश्व विद्यालय कुमारगंज के मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार त्रिले के न्यूनतम तापमान में आधे डिग्री की और गिरावट आ सकती है। इस बार ठंड ने वर्ष 2002 के रिकार्ड को तोड़ है। कोहरे के कारण सड़क तथा रेल यातायात प्रभावित हैं। ट्रेने आठ से दस घण्टे लेट चल रही हैं। रेल विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक अमृतसर-हवड़, जम्मूतवी एक्सप्रेस, श्रमजीवी एक्सप्रेस, बेगमपुरा एक्सप्रेस, सदभावना एक्सप्रेस, सरजू एक्सप्रेस, मरूधर एक्सप्रेस समेत करीब 12 रेलगाड़यां आठ से दस घण्टा विलम्ब से चल रही हैं। सड़क मार्ग का और बुरा हाल है, लोग बसों में सफर करने से कतरा रहे हैं। दुर्घटनाओं की सम्भावनाओं से भयभीत लोगों ने बसों से यात्रा करना काफी कम कर दिया है। राज्य सड़क परिवहन निगम को प्रतिदिन एक लाख सत्तर हजार रूपये के राजस्व का घाटा उठाना पड़ रहा है।

जिलाधिकारी ने कड़के की ठंड को देखते हुए फिर से 13 जनवरी तक एक से इंटरमीडिएट तक के स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। शहर और प्रमुख बाजारों में अलाव का प्रबंध पर्याप्त नहीं हैं। लोग ठंड से बचने के लिये कहीं टायर तो कहीं रद्दी कागज, लकड़यां जला रहे हैं। नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी दुर्गेश्वर त्रिपाठी का कहना है कि अलाव जलाने की व्यवस्था हर चौराहे पर की गयी है। प्रतापगढ़ से मिली सूचना के अनुसार जिले में पड़ रही कड़के की ठण्ड एवं शीतलहर के कारण जिलाधिकारी के आदेश पर जिले के कक्षा एक से आठ तक के सभी विद्यालय 12 जनवरी तक के लिये बन्द कर दिये गये हैं। देवरिया से मिली रिपोर्ट के अनुसार जिले में पड़ रही कड़के की ठंड के मद्देनजर जिलाधिकारी सुजीत कुमार ने कक्षा आठ के सभी स्कूलों को 13 जनवरी तक बन्द करने का आदेश दिया है।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।

Choose A Format
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Thanks for loving our story. Like our Facebook page to get more stories.