प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग


श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में दुख्तराने मिल्लत के अध्यक्ष आशिया अंदराबी के खिलाफ जन सुरक्षा कानून के तहत मामला दर्ज किए जाने का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आज सुरक्षा बलों ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।
प्राप्त जानकारी के अनुसार यह समस्या उस समय शुरू हुई जब ऐतिहासिक जामिया मस्जिद और आसपास की मस्जिदों में जुमे की नमाज के बाद लोगों ने सड़कों पर उतरकर सरकार विरोधी नारेबाजी शुरू कर दी और गोजवारा गेट से मुख्य चौक की ओर बढऩे लगे।

वहां तैनात पुलिसकर्मियों और सुरक्षाबलों ने जब उन्हें रोकने की कोशिश की तो उन्होंने इन आदेशों को अनसुना कर दिया और सरकार विरोधी नारेबाजी करने लगे। उन्हें तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा बलों को लाठीचार्ज का सहारा लेना पड़ा जिसके बाद झड़पें और तेज हो   गई और स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सुरक्षाबलों ने आंसूगैस के गोले छोड़े। इस घटना का असर आसपास के क्षेत्रों पर भी पड़ा जिसके चलते व्यापारिक और अन्य गतिविधियां थम सी गई।

उन्हें देखते हुए यातायात पुलिस ने वाहनों को अन्य रास्तों से भेजा। इस क्षेत्र में हर शुक्रवार को सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पें होना अब आम बात हो गयी है। हुर्रियत के उदारवादी धड़े के प्रमुख मीरवाइज मौलवी उमर फारूक जिनका आज एक जनसभा को संबोधित करने का कार्यक्रम था, उन्हें सुबह से ही घर में नजरबंद कर दिया गया है।

दरअसल हुर्रियत के दोनों धड़े और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट ने काफी समय से स्व निर्धारण कानून और अन्य मांगों को लेकर आंदोलन छेड़ रखा है और आशिया पर जन सुरक्षा कानून के तहत मामला दर्ज किये जाने के विरोध में शुक्रवार की नमाज के बाद विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया था।

– वार्ता