प्रथम चरण में 11.93 लाख किसानों का कर्ज माफ


farmer

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने फसल कर्ज माफी योजना के प्रथम चरण में प्रदेश के 11.93 लाख छोटे एवं सीमांत किसानों का कर्ज चुकाने के लिये 7,371 करोड़ रुपये की राशि आज जारी कर दी। राज्य सरकार ने प्रदेश के किसानों का एक लाख रुपये तक का फसल कर्ज समाप्त करने के लिये 32,000 करोड़ रुपये की माफी योजना की घोषणा की है। माफी योजना बैंकों अथवा वित्त संस्थानों से 31 मार्च 2016 को अथवा उससे पहले लिये गये कर्ज पर लागू होगी। राज्य सरकार की यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार 10,000 रुपये अथवा इससे अधिक के बकाया फसली रिण का भुगतान कर दिये जाने से प्रदेश के 11,27,890 किसानों को लाभ पहुंचा है।

इसके अलावा 1,000 से 10,000 रुपये तक का बकाया कर्ज राज्य सरकार द्वारा चुका दिये जाने से 41,690 किसान लाभान्वित हुये हैं। इसी प्रकार 500 रुपये से लेकर 1,000 रुपये तक का बकाया चुकाने से 5,553 किसानों को लाभ हुआ है। विज्ञप्ति के अनुसार 100 से 500 रुपये के बकाये का भुगतान होने से 6,895 किसान और एक रुपये से लेकर 100 रुपये के दायरे में बकाये कर्ज को चुकता करने से 4,814 किसानों का फायदा पहुंचा है। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता के अनुसार, जिन खातों में किसानों ने मूल राशि का भुगतान कर दिया था उनमें योजना के तहत ब्याज का भुगतान चाहे वह छोटी राशि थी कर दिया गया।

कुछ मामलों में इस तरह की गलत धारणा बनाई गई है कि केवल मामूली राशि का ही भुगतान किया गया है। शासन के कृषि विभाग द्वारा जिलाधिकारियों को शिविरों का आयोजन कर उन्हें कार्य-योजना बनाकर जनपद एवं तहसील स्तर पर कैम्प-आयोजन के उपरान्त, प्रत्येक बैंक की शाखा स्तर पर लाभार्थियों को बैंकों से प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने को कहा गया है।