सेना पर अभद्र टिप्पणी पर फंसे आजम खां, मुकदमा दर्ज


रामपुर : समाजवादी पार्टी (सपा) नेता आजम खां द्वारा कथित तौर पर सेना के खिलाफ की गई आपत्तिजनक टिप्पणी से उनकी मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है। पूर्व मंत्री के खिलाफ भारतीय सेना के मनोबल तोड़ने वाले कथित बयान के चलते पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता के बेटे आकाश सक्सैना ने मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने 153ए और 505 में मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। इससे पहले सत्ताधारी बीजेपी और कई विपक्षी दलों ने आजम के बयान की कड़ी शब्दों में निंदा की थी।

यूपी के रामपुर में 27 जून को सपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए आजम ने कहा था कि हिन्दुस्तान छह दशक के बाद अपने रास्ते से हट रहा है। हिन्दुस्तान के सियासतदां बैलेट के बजाये बुलेट का रास्ता अख्तियार करना चाहते हैं। अंजाम सामने है। कश्मीर, झारखण्ड, असम में औरतों ने मारा फौज को और महिला दहशतगर्द उनके निजी अंग काट कर ले गईं। यह इतना बड़ा संदेश है जिसपर पूरे हिन्दुस्तान को शर्मिन्दा होना चाहिए और सोचना चाहिए कि हम पूरी दुनिया को क्या मुंह दिखायेंगे।

आजम खान का यह बयान मीडिया में आने के बाद उनपर चौतरफा हमले शुरू हो गए। कथित तौर पर आजम खान पर भारतीय सेना का मनोबल तोड़ने का आरोप है। शिकायतकर्ता बीजेपी के मंत्री रहे शिव बहादुर सक्सैना के बेटे और बीजेपी नेता आकाश सक्सैना उर्फ हनी ने आजम खाम के खिलाफ रामपुर के सिविल लाइंस थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। उनका आरोप है कि आजम खान ने 27 जून को अपने बयान से भारतीय सैनिकों का अपमान, विद्रोह का दुष्प्रेरण और राष्ट्रद्रोह किया है। शिकायत में आजम पर भारत की राष्ट्रीय एकता पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले लांछन लगाए का आरोप है और सेना के लिए आपत्तिजनक और घृणात्मक भाव दर्शाने का भी आरोप है।

बीजेपी नेता आकाश सक्सैना ने कथित विवादित बयान को भारतीय संविधान और भारतीय सेना की कार्यशैली के विरुद्ध और मनोबल गिराने वाला बताते हुए कहा है कि इससे जवानों को अपने कर्तव्यों से विचलित करने का प्रयास किया गया है। सक्सैना ने तहरीर की प्रतिलिपि पुलिस अधीक्षक को भी भेजी है। साथ ही कथित विवादित बयानों की सीडी भी पुलिस को उपलब्ध कराई है।

पुलिस इस मामले पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। हालांकि पुलिस ने तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने भारतीय दण्ड संहिता 1860 के तहत 153ए और 505 धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है।