हरिद्वार की तर्ज पर विकसित होगा ब्रजघाट


गढ़मुक्तेश्वर: तीर्थनगरी ब्रजघाट पर आये प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खादर में आयोजित होने कार्तिक पूर्णिमा मेले को सरकारी स्तर पर आयोजित किये जाने की घोषणा की है। तीर्थनगरी ब्रजघाट को हरिद्वार की तर्ज पर धार्मिक पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जायेगा। योगी आदित्यनाथ ने गंगा के किनारे पौधारोपण किया और स्कूली बच्चों को किताबें, ड्रेस, मौजे व स्कूली बैग वितरित किये। गढ़मुक्तेश्वर की तीर्थनगरी ब्रजघाट पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हेलिकाप्टर पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अनुसार 11:42 बजे पहुंच गया। वहां से योगी आदित्यनाथ आलमगीरपुर प्राथमिक विद्यालय में पहुंचे और बच्चों को कापी, किताबें, डे्रस, मौजे और बैग का वितरण किया।

इस अवसर पर योगी जी ने कहा कि सभी बच्चों को प्राथमिक विद्यालय में पढऩे के लिए जाना चाहिए। प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों की पढ़ाई व दोपहर के भोजन की व्यवस्था है। इसके पश्चात योगी आदित्यनाथ गंगाघाट पर स्थित आरती स्थल पर पहुंचे और मां गंगा की पूजा-अर्चना की। विद्वान पंडित ने योगी जी का चंदन से तिलक किया। योगी आदित्यनाथ ने गंगा के किनारे पीपल व बड़ के पौधों का रोपण किया। वहां से योगी जी ने गेस्ट हाऊस में पहुंच कर पीपल के पौधे का रोपण किया। तत्पश्चात योगी जी ने गेस्ट हाऊस पर अधिकारियों से वार्ता की। इसके पश्चात महंत योगी आदित्यनाथ सभास्थल पहुंचे। सभा को सम्बोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी, मथुरा और वृंदावन की तरह से गढ़मुक्तेश्वर ब्रजघाट का भी विकास कराया जायेगा।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गढ़मुक्तेश्वर के खादर में आयोजित होने वाले कार्तिक पूर्णिमा मेले को सरकारी स्तर पर आयोजित कराया जायेगा। योगी जी ने कहा कि किसान देश का अन्नदाता है और किसान की फसल का उचित दाम मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों के गन्ने का 23 हजार करोड़ रूपये का भुगतान किया जा चुका है और बाकी का भी जल्द किया जायेगा। अगर मिल गन्ने का भुगतान नहीं करता है मिल अधिकारियों व मालिकों को जेल भेजा जायेगा। योगी जी ने कहा कि गढ़मुक्तेश्वर को 24 घंटे विद्युत आपूर्ति की जायेगी।

– मुस्तफा खां