युवक पर फायरिंग करने वाले बदमाश गिरफ्तार


झांसी: बीते दो दिन पहले झांसी के शहर कोतवाली क्षेत्र में एक युवक पर रंगदारी को लेकर तबाड़तोड़ फायरिंग हुई थी। जिसमे फरार चल रहे तीन हमलावरों को कोतवाली पुलिस ने पकड़ने में सफलता हासिल कर ली है। पकड़े गये हमलावर आपस में दोस्त बताये जा रहे हैं। हमलावरों के पास से पुलिस को तमंचा और कारतूस बरामद हुए हैं। पूछतांछ कर सभी के खिलाफ कार्रवाही की जा रही है। झांसी जनपद के शहर कोतवाली क्षेत्रान्तर्गत सूजे खां की खिड़की बाहर खातीबाबा मंदिर के नजदीक रहने वाले अंकित बाथम पर 10 जुलाई को कुछ लोगों ने प्राईमरी पाठशाला के सामने फायरिंग कर दी थी। जिससे वह गम्भीर रुप से घायल हो गया था। उसे उपचार के लिये मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था। घायल के पिता कमलेश ने थाने में पहुंचकर पुलिस को बताया जब उसका बेटा अकिंत घर पर था तभी उसका दोस्त छोटू खटीक वहां पहुंचा और उसे धोखे से अपने साथ ले गया। इसके बाद 50 हजार की रंगदारी न देने पर छोटू खटीक ने अपने साथी मुकेश अहिरवार, बृजेन्द्र वाल्मीकि, राहुल अहिरवार व विक्की वाल्मीकि ने उसके बेटे पर फायरिंग की। पुलिस ने शिकायत के आधार पर संबंधित धाराओं में आरोपियों के विरुद्ध मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी थी।

भागने से पहले ही पुलिस ने धर दबोचा
मामला दर्ज होने के बाद शहर कोतवाली प्रभारी ने अपनी टीम के साथ हमलावरों की तलाश शुरु कर दी। पुलिस के अनुसार इसी दौरान उन्हें पता चला कि उक्त हमलावर मैरी तिराहे के नजदीक हैं। सूचना को गम्भीरता से लेते हुए पुलिस बताये गये स्थान पर पहुंची। जहां से पुलिस को तीन युवक नजर आये। पुलिस को देख उक्त युवक भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस ने किसी प्रकार तीनों को पकड़ लिया। इसके बाद तलाशी के दौरान उनके पास से 315 बोर का तमंचा व एक जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। पकड़े गये तीनों हमलावरों को थाने लाया गया। जहां पूछतांछ में उन्होंने अपना नाम छोटू खटीक निवासी उन्नाव गेट,विक्की वाल्मीकि निवासी तालपुरा और मुकेश अहिरवार निवासी देवीलाल चौबे का अखाड़ा बताया।

इसलिए किया था हमला
पूछतांछ के दौरान पकड़े गये हमलारों में छोटू खटीक ने बताया कि उसके साथी विक्की, मुकेश, बृजेन्द्र और राहुल अहिरवार ने उससे अकिंत बाथम को जान से मारने के लिए कहा। जिस कारण पहले उसने अकिंत को धोखे से बुलाया। इसके बाद उस पर फायरिंग करते हुए गोलियां मारी थी।

– एम.वसीम