महिला से सामूहिक दुराचार


img source : aajtak

झांसी: जनपद के थाना एरच अंतर्गत ग्राम डिकौली में एक महिला से गांव के ही एक दबंग ने अपने साथियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म को अंजाम दिया। जब पीड़िता ने इसका विरोध कर अपनी इज्जत बचाने का प्रयास किया तो उससे तमंचे की नोक पर शांत करा दिया। अपने साथ हुई बर्बरता की शिकायत लेकर पीड़िता जब थाने पहुंची तो वहां से उसे पुलिस द्वारा डरा धमका कर भगा दिया गया जिससे परेशान महिला न्याय की आस में शनिवार को एसएसपी कार्यालय पहुंची। प्रदेश सरकार पुलिस और प्रशासन को कानून व्यवस्था में सुधारन लाने और अपराधियों पर सख्ती दिखाने के निर्देश भले ही देती रहे, लेकिन शासन के आदेशों का न पुलिस पर असर पड़ रहा है और नाहीं अपराधियों पर।

इसकी बानगी एक बार फिर से झांसी जनपद के एरच थाना अंतर्गत ग्राम डिकौली में नजर आई। जहां गांव के ही एक दबंग ने बकरी चराने गई महिला के साथ अपने दोस्त संग मिलकर सामूहिक दुष्कर्म किया। एसएसपी कार्यालय न्याय मांगने पहुंची ग्राम डिकौली निवासी रति देवी (परिवर्तित नाम) ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि उसका पति व (18) वर्षीय पुत्र गुजरात में मजदूरी करते हैं और वह अपने गांव में ही रहकर बकरी पालन करती है। पीड़िता का कहना है कि बीती 28 जुलाई को वह सुबह 11 बजे अपनी बकरियां चराने जंगल में गई हुई थी। इसी बीच गांव का ही रहने वाला दबंग धर्मेंद्र पुत्र हंसलाल अपने दो अन्य अज्ञात साथियों सहित वहां पहुच गया। इसके बाद तीनों ने उसके साथ बारी-बारी से सामूहिक दुराचार किया।

जब पीड़िता ने चिल्लाने शोर मचाने की कोशिश की तो आरोपियों ने तमंचे के खौफ से उसे शांत करते हुए पुलिस से शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। महिला का आरोप है कि जब अपने साथ हुई इस बर्बरता की शिकायत लेकर वह एरच थाने पहुंची तो वहां पहले से ही आरोपी का पिता जो कि गुंडा प्रवित्ति का व्यक्ति है मौजूद था। पीड़िता का कहना है कि जब उसने पुलिस से शिकायत दर्ज करने की मांग की तो थाने की पुलिस ने उस पर ही धारा 151 में मुकदमा दर्ज कर जेल पहुंचाने की धमकी देते हुए वहां से भगा दिया। थाने की पुलिस से न्याय न मिलने पर शनिवार को पीड़िता अपने जेठ के साथ एसएसपी कार्यालय पहुंची। जहां उसने मामला दर्ज कर आरोपियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करने की गुहार लगाई है।

– एम. वसीम